पीएम ने प्रयाग दौरे पर सफाईकर्मियों के पैर धोए ,जानिए क्या रही उनकी राय

1162

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रयागराज गए थे ,वहां चल रहे कुंभ मेले के दौरान उन्होंने संगम में डुबकी भी लगाई…पीएम मोदी के साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी थे ..पीएम मोदी ने यहां पर लोगों को संबोधित किया..उन्होंने यहाँ उन लोग कि तरीफ की हैं जो दिन रात मेहनत कर कुंभ में सुविधा मुहैया कराते हैं..आगे उन्होंने आगे बात करते हुए कहा .. इन कर्मयोगियों में नाविक भी हैं. इन कर्मयोगियों में स्थानीय निवासी भी हैं…कुंभ के कर्मयोगियों में साफ सफाई से जुड़े कर्मचारी भी शामिल हैं…उसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रयागराज में दिल को छू लेने वाला संदेश देते हुए सफाईकर्मियों की चरण वंदना की.. गंगा स्नान और आरती के बाद उन्होंने सफाईकर्मियों के पैर धोए और उनको नमन किया.. साथ ही स्वच्छता कर्मियों, व सुरक्षाकर्मियों को सम्मानित किया.

अब हम आपको बतायेंगे उन लोगों कि क्या कहा …स्वच्छता कर्मियों में पीएम मोदी द्वारा दिये गए इस सम्मान से बहुत उत्साह है.. अपनी प्रतिक्रिया में सफाई कर्मियों का कहना है कि प्रधानमंत्री ने खुद उनके पैर धोकर उन्हें सम्मान दिया है…इस वीडियो में एक सफाई कर्मी का कहना है… प्रधानमंत्री ने खुद हमारे पाँव धोए, हमें प्रणाम किया और हमारा मान बढ़ाया… हमने कभी सोचा नहीं था कि हम लोगों को कोई इस तरह मान-सम्मान देगा.

उसके बाद जब लोगों तक ये वीडियो पंहुचा लोगो का रिएक्शन आना शुरू हो गया..एक उजर लिखते है ..आज आज़ादी के 72 सैलून में मैंने किसी राजनेता को कभी ऐसा ना करते देखा जाति के नाम पर राजनीती करने वालों के मुह पर ये वीडियो बहुत बड़ा तमाचा है ..तो वही नीतू नाम कि एक यूजर लिखती है ..शायद पहली बार किसी PM ने सफाई कर्मियों के पैर धोये है ..#मोदी है तो मुमकिन है ..तो किसी ने लिखा है ..देश का चोकीदार महान है ..वही एकता नाम कि यूजर लिखती है कुंभ को स्वच्छ रखने वाले सफाई कर्मचारियों के चरण धोये मुझे गर्व है कि मैंने देश के लिए सच्चा सेवक चुना है ..आपके प्रति सम्मान बढ़ता जा रहा है. तो किसी ने सत्ता का ललचा बताते हुए कहा कि अब सत्ता के लिए कुछ भी कर सकते है …

खैर चाहे ये सत्ता के लिए किया गया कोई काम हो या साफ़ मनसा से सच में सफाई कर्मियों के लिए इज्जत और सम्मान हो…वो लोग इससे बहुत ही सम्मानित महसूस कर रहे है अपने आप को …जिन्हें कोई पूछता तक नहीं था ..या फिर जिन लोगों कि खुलकर किसी ने तारीफ ना कि हो उन के लिए प्रधान मंत्री के द्वारा ऐसे पैर धोना और उनके लिए सम्मान जनक कुछ शव्द कहना उन लोगों के लिए तो बहुत बड़ी बात है.