अगर इस बार लॉकडाउन बढ़ा तो नहीं लगेगी पूरे कामकाज पर रोक, सरकार बना रही है ये प्लान!

पूरे देश में इस समय कोरोना के चलते लॉकडाउन चल रहा है. सरकार के पास इस समय लॉकडाउन के अलावा कोई विकल्प नहीं था इसीलिए सरकार ने लॉकडाउन को आगे बढ़ाना ही सही विकल्प समझा. इसके पीछे की सबसे बड़ी वजह ये है कि इस वायरस की अभी तक दवा नही बन पाई है न ही इसकी कोई वैक्सीन बनी है. सरकार के इस कदम के बाद भी कोरोना का कहर थम नही रहा है.

जानकारी के लिए बता दें पूरे देश के लॉकडाउन के बावजूद भी हर दिन मरीजों की संख्या जबरदस्त बढ़ रही है. भारत में अब हर दिन 3 हजार से ज्यादा मरीज बढ़ रहे हैं. भारत में अब कोरोना के संक्रमित लोगों की संख्या का आंकड़ा 63 हजार के करीब पहुंच गया है. इस तरह की स्थिति को देखते हुए यही कयास लगाये जा रहे हैं कि कोरोना के कहर के चलते लॉकडाउन को और बढ़ाया जा सकता है. इसी बीच एक बड़ी खबर आ रही है.

लॉकडाउन का तीसरा फेज 17 मई को खत्म हो रहा है. हालाँकि सरकार ने इसके आगे लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर अभी तक किसी तरह का अधिकारी रूप से ऐलान नहीं किया है लेकिन सरकार इसके लिए एक प्लान तैयार का रही है. सरकार की तरफ से लगातार हो रही मीटिंग को देखते हुए यही लग रहा है कि सरकार आर्थिक गतिविधियों में तेजी लाने के लिए बड़े कदम उठा सकती है.

गौरतलब है कि देश में कोरोना की स्थिति को देखते हुए यही उम्मीद लगाई जा रही है कि लॉकडाउन और आगे बढ़ाया जा सकता है लेकिन इस बीच लोगों के मन में एक सवाल है कि क्या पहले मुकाबले इस बार छूट मिलेगी या नहीं? तो बता दें टाइम्स ऑफ़ इंडिया के अनुसार अगर इस बार लॉकडाउन बढ़ाया गया तो कई बदलाव देखने को मिल सकते हैं. अब रेड जोन वाले इलाकों में छूट दी जाएगी सिर्फ उसी इलाके को इस दायरे में रखा जायेगा जहाँ कोरोना के मरीज हैं. पूरे इलाके में कामकाज को बंद नहीं किया जायेगा. सरकार आर्थिक संकट को कम करने के लिए कई तरह के कामों को जारी किया जा सकता है ताकि पलायन कर रहे मजदूर भी जहाँ हैं वही रुक सकें. सरकार उसी प्लान की तैयारी कर रही है कि किस तरह लोगों को जोन और उस दायरे के हिसाब से छूट दी जा सके.