लॉकडाउन 2.0 में सरकार ने जारी की गाइडलाइन्स, अब ऐसा करने वालों को होगी जेल

देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना के प्रभाव के चलते सरकार ने 21 दिन के लिए पूरे देश में लॉकडाउन लागू किया था, जोकि 14 अप्रैल तक था लेकिन हालात ठीक होते हुए नही दिखे तो पीएम मोदी ने अब इसे 3 मई तक आगे बढ़ाने का फैसला लिया है. उन्होंने लॉकडाउन के जनता को फायदे बताये. पीएम मोदी ने बताया कि सही समय के चलते लॉकडाउन लागू न किया होता तो आज परिणाम भयवाह हो सकते थे.

जानकारी के लिए बता दें ये लॉकडाउन का ही प्रभाव जो आज भारत अन्य देशों के मुकाबले काफी बेहतर स्थिति में है. लॉकडाउन 2.0 लागू होने के बाद केंद्र सरकार ने अब कई तरह के दिशानिर्देश भी जारी कर दिए हैं. सरकार ने अब सख्त नियमों का पालन करने का निर्देश जारी कर दिया है. सरकार के इन नियमों को तोड़ना अब जनता को बहुत भारी पड़ गया.

लॉकडाउन के दौरान अब किसी भी प्रकार का झूठ और दावा करना लोगों को अब बहुत भारी पड़ेगा. सरकार ने इन नियमों को तोड़ने वालों के खिलाफ सजा का प्रावधान रखा है. किसी भी तरह का झूठा दावा करने पर दो साल की सजा और किसी भी तरह की अफवाह फैलाने पर एक साल की सजा का प्रावधान जारी किया है.

गौरतलब है कि गृह मंत्रालय की ओर से जारी की गयी नयी गाइडलाइन्स में उन विषयों पर भी सख्त कानून को लागू किया है जोकि अभी लॉकडाउन के दौरान देखने को मिले थे. लॉकडाउन के दौरान अब सरकारी अधिकारी और कर्मचारी से दुर्व्यवहार करना अब किसी को भी भारी पड़ सकता है. अब ऐसा करने वाले शख्स को एक साल की सजा या जुर्माना लगाया जा सकता है.