वीडियो : सुखोई और मिराज ने हवा में भरा फ्यूल, सामने आया वीडियो

4201

भारतीय वायुसेना लगातार मज़बूत हो रही हैं. नए नए अधिक क्षमता और तकनीक वाले विमानों को भारतीय वायु सेना में शामिल किया जा रहा है. इस लिस्ट में राफेल शामिल होने वाला है. जल्द ही राफेल भारतीय वायुसेना में शामिल होगा. आपने कई लड़ाकू विमान देखा होगा लेकिन आज हम आपको दिखाने जा रहे हैं कि कैसे ये विमान हवा में ही तेल भरते हैं.

दरअसल, हाल ही में भारत और फ्रांस के बीच द्विपक्षीय एयर एक्सरसाइज़ गरुड़ा-6 का आयोजन किया गया. इस दौरान दोनों देशों के चुने हुए लड़ाकू विमानों ने इसमें भाग लिया.इंडियन एयरफोर्स ने इस ज्वाइंट एक्सरसाइज़ के दौरान IL-78 से दूसरे सुखोई विमान Su-30 MKI में ईंधन भरने वाली घटना का एक वीडियो भी शेयर किया. इस दौरान न सिर्फ सुखोई बल्कि राफेल और मिराज-2000 जैसे जैसे एयरक्राफ्ट में भी ईंधन भरा गया. इंडियन एयर फ़ोर्स द्वारा ये वीडियो शेयर किया गया है.

Source-IndiaToday

वीडियो में आप साफ़ देख सकते हैं कि कैसे हवा में उड़ रहे लड़ाकू विमान के पास कुछ अन्य विमान आते हैं और फिर एक लंबी पाइप द्वारा लड़ाकू विमान में फ्यूल भर दिया जाता है. फिर दोनों विमान एक दुसरे अलग हो जाते हैं.

रूसी कंपनी सुखोई और भारत की हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) के सहयोग से बनाए गए इस विमान को सबसे पहले वर्ष 2002 में इंडियन एयरफोर्स में शामिल किया गया था. इस विमान की ताकत 2000किमी/घंटा है.

मिराज 2000 (Mirage 2000) मल्टीरोल 4th जेनरेशन का फाइटर जेट है। भारत सरकार ने 1980 से 90 के दशक में फ्रांस से 49 मिराज 2000 (Mirage 2000) खरीदे थे। वर्ष 2004 में सरकार ने 10 अन्य मिराज 2000 (Mirage 2000) खरीदे जाने को मंजूरी दी थी। भले ही ये लड़ाकू विमान पुराना हो गया हो लेकिन हाल ही पाकिस्तान में एयरस्ट्राइक कर इस विमान ने अपने प्रतिभा का प्रदर्शन किया था.

राफेल को लेकर देश काफी विवाद हो चुका है इन सबके बावजूद जल्द ही राफेल हमारी वायुसेना में शामिल होगा. जो दुश्मनों के छक्के छुडाने में काफी है. भारत फ़्रांस के साथ समझौता करके राफेल खरीद रहा है. जिसमें भ्रष्टाचार की बात कहकर कांग्रेस लगातार मोदी सरकार को घेरती आई है. लोकसभा चुनाव में इस मुद्दे को जमकर उछाला गया था लेकिन इसका कोई ख़ास असर नही हुआ था.