पंजाब नेशनल बैंक का पैसा ले कर भागे मेहुल चौकसी ने भी दिया था राजीव गाँधी फाउंडेशन में दान, हुआ खुलासा

2055

गांधी परिवार के स्वामित्व वाले राजीव गाँधी फाउंडेशन के बारे में रोज नए नए खुलासे हो रहे हैं. चीन, प्रधानमंत्री राहत कोष, मंत्रालयों, सरकारी कंपनियों के बाद अब पता चला है कि बैंकों का पैसा ले कर देश से फरार चल रहे मेहुल चौकसी ने भी राजीव गाँधी फाउंडेशन में दान दिया था. 2014-15 में नवराज एस्टेट प्राइवेट लिमिटेड के नाम से राजीव गाँधी फाउंडेशन को अघोषित दान दिया गया था और मेहुल चौकसी इस कंपनी के निदेशकों में से एक है. टाइम्स नाउ की एक रिपोर्ट से इस बात का खुलासा हुआ. मेहुल चौकसी पर पंजाब नेशनल बैंक के 13 हज़ार करोड़ रुपए के ग़बन का आरोप है. वो इस वक़्त देश से फरार चल रहा है.

राजीव गाँधी फाउंडेशन को लेकर गाँधी परिवार अब लगातार घिरते जा रहा है. 2004-14 के दौरान जब देश में कांग्रेस के नेतृत्व में UPA की सरकार थी तो राजीव गाँधी फाउंडेशन को इस दौरान कई श्रोतों से दान मिले. दस्तावेजों से ये भी खुलासा हुआ है कि पीएम राहत कोष के पैसों को भी एक बार नहीं बल्कि कई बार राजीव गाँधी फाउंडेशन में डायवर्ट किया गया. इसके अलावा 11 बड़ी सरकारी कंपनियों ने भी UPA सरकार के दौरान राजीव गाँधी फाउंडेशन में दान दिया.

ये भी खुलासा हुआ है कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी वित्त मंत्री बनने के बाद बजट में राजीव गांधी फाउंडेशन को 100 करोड़ रुपये देने की घोषणा की थी. 1991 में जब नरसिम्हा राव की सरकार बनी तो उसमे मनमोहन सिंह वित्त मंत्री बने थे. उन्होंने अपने पहले ही बजट में  राजीव गांधी फाउंडेशन को 100 करोड़ रुपये देने की घोषणा भी की थी और कहा था कि 5 साल में यह पैसा दिया जाएगा और हर साल 20-20 करोड़ रुपये दिए जाएंगे. मनमोहन सिंह के 1991 के बजट भाषण की कॉपी के पैरा नंबर 57 में इसका उल्लेख किया गया है.