लोकसभा में मीनाक्षी लेखी ने दिल्ली दं’गों पर कहा कुछ ऐसा कि विपक्ष की हो गई बोलती बंद

583

होली की छुट्टी ख़त्म होने के बाद आज लोकसभा में दिल्ली दं’गों पर चर्चा के दौरान भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने न सिर्फ सरकार के पक्ष में जोरदार तर्क रखे बल्कि विपक्ष पर जोरदार ह’मला किया. मीनाक्षी लेखी ने भाजपा नेता कपिल मिश्रा का बचाव करते हुए विपक्ष पर कई सवाल खड़े किये. कपिल मिश्रा का बचाव करते हुए मीनाक्षी लेखी ने कहा कि ताहिर हुसैन, शर्जील इमाम और अमानतुल्ला के बयानों का बचाव करने ले लिए विपक्ष कपिल मिश्रा का सहारा ले रहा है.

मीनाक्षी लेखी ने गृहमंत्री अमित शाह पर उठ रहे सवालों का भी जवाब देते हुए विपक्ष को लताड़ लगाई. उन्होंने कहा, ’24 फरवरी को गृह मंत्री अमित शाह बैठक कर रहे थे. उन्होंने गृह मंत्रालय के सभी अधिकारियों के साथ बैठक की और हिं’सा रोकने के निर्देश दिए थे. 25 फरवरी की सुबह उन्होंने फिर अधिकारियों के साथ बैठक की थी. हिं’सा रोकने के लिए उन्होंने उच्च नेताओं और अधिकारियों से मुलाकात की थी.’ दं’गाग्र’स्त क्षेत्रों में NSA अजीत डोवाल की यात्रा पर जवाब देते हुए कहा कि विपक्ष को इस बात से भी दिक्कत है कि अजीत डोवाल क्यों गए? अजीत डोवाल राष्ट्रिय सुरक्षा सलाहकार हैं. वो नही जायेंगे तो क्या गृहमंत्री अमित शाह जा कर थाने में बैठ जाएं.

कपिल मिश्रा का बचाव करते हुए मीनाक्षी लेखी ने विपक्ष को लताड़ लगाते हुए कहा कि ‘विपक्ष चाहता है कि कपिल मिश्रा को शर्जिल इमाम के देश विरोधी बयान के लिए जिम्मेदार ठहराया जाए, विपक्ष चाहता है कि दं’गों के दौरान ताहिर हुसैन ने जो किया उसके लिए कपिल मिश्रा को स’जा दी जाए, विपक्ष चाहता है कि अमानतुल्ला के बयानों के लिए कपिल मिश्रा को स’जा दी जाए.’ उन्होंने विपक्ष पर सवाल उठाते हुए कहा कि विपक्ष ना तो शर्जिल इमाम के बयानों पर कुछ बोलता है, न अमानतुल्ला के खिलाफ कुछ बोलता है, न ताहिर हुसैन के खिलाफ कुछ बोलता है और न सड़क घेर कर बैठे लोगों के खिलाफ कुछ बोलता है लेकिन चाहता है कि इन सबके कर्मों की सजा कपिल मिश्रा को दी जाए.’