दिल्ली सरकार द्वारा छिपाए जा रहे कोरोना मौत के आंकड़ों का एमसीडी ने किया खुलासा और लगाया ये आरोप !

283

देश में कोरोना का संकट लगातार बरकरार है. हर दिन करीब 10 हजार मरीज बढ़ने के साथ अब देश में कुल मरीजों की संख्या 2 लाख 97 हजार के पार हो चली है. ऐसे में सरकार जनता को लेकर कई बड़ी चुनौती सामने हैं.

जानकारी के लिए बता दें देश में अब मुंबई के देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना के मरीज़ों ने तेजी पकड़ ली है. पिछले कई दिनों को देखा जाए तो दिल्ली में हर दिन हजार से ज्यादा मरीज बढ़ रहे हैं और कई अपनी जान दे रहे हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर लगातार कोरोना से हो रही मौत के आंकड़ों को छुपाने के आरोप लग रहे हैं.

दिल्ली में लगातार बढ़ रहे मरीजों के चलते सीएम केजरीवाल की मुसीबतें बढ़ रही हैं. सुप्रीम कोर्ट ने भी दिल्ली सरकार को कोरोना महामारी के चलते फटकार लगाई है. वहीं दूसरी ओर दिल्ली सरकार और नगर निगम में कोरोना से हो रही मौत के आंकड़ों को लेकर खींचतान जारी है.

दिल्ली सरकार एक तरफ कोरोना से हुई मौत का आंकड़ा 1085 बता रही है तो वहीं दूसरी ओर नगर निगम ने बड़ा आरोप लगाते हुए ये संख्या 2098 बताई है. नगर निगम दिल्ली में 2 हजार से ज्यादा मौत का दावा कर रही है. नगर निगम ने डेथ सर्टिफिकेट के सबूतों के साथ दिल्ली सरकार पर ये आरोप लगाया है. दरअसल डेथ सर्टिफिकेट किसी अस्पताल द्वारा मरीज की मृत्यु के बाद ही बनाया जाता है और अस्पतालों द्वारा इनकी जानकारी नगर निगमों को साझा की जाती हैं. साउथ एमसीडी में स्टैंडिंग कमिटी के चेयरमैन भूपेंद्र गुप्ता ने दावा किया है कि अकेले साउथ एमसीडी इलाके में 800 लोगों की मौत के सर्टिफिकेट उनके पास हैं. उन्होंने दिल्ली सरकार के झूठ की पोल खोलने का दावा किया है.