मायावती ने दिया बड़ा ब’यान, आरएलएसपी के साथ ग’ठबंधन कर बसपा ल’ड़ेगी चुनाव, उपेन्द्र कुशवाहा होंगे CM पद के उ’म्मीदवार

74

बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐला’न हो चुका है, एक अक्टूबर को पहले चरण की अधिसूचना भी चुनाव आयोग की ओर से जारी करने की तैयारी है. फिलहाल बिहार के अंदर राजनीति दिन पर दिन ग’र’मा’ती जा रही है. नेताओं का दल बदलना भी शुरू हो चूका है. बिहार में हर पार्टी में सीट बंटवारे को लेकर खीं’च’ता’न भी अपने चरम पर है. अभी तक सीट शेयरिंग को लेकर किसी भी गठबंधन में बात नहीं बन पाई है.

वही कुशवाह ने NDA का हाथ दा’मने की जगह कुछ ऐसा किया है जिससे सभी चौ’क गए है. दरअसल रालोसपा प्रमुख उपेन्द्र कुशवाहा ने महाग’ठबंध’न से अपना ना’ता तोड़’ने के बाद अब बसपा के साथ ग’ठ’बंधन का किया ऐला’न किया है. जिसके बाद अब बसपा अध्यक्ष मायावती ने मंगलवार को संवाद’दाताओं से बातचीत करते हुए कहा है कि उनकी पार्टी ने आरएलएसपी के साथ ग’ठबंधन कर चुनाव लड़’ने का फै’सला किया है. अगर जनता ने ग’ठबंधन को ब’हुमत दिया. तो आरएलएसपी के मुखिया उपेन्द्र कुशवाहा मुख्यमंत्री होंगे.

साथ ही उन्होंने ये भी कहा है कि इस ग’ठबंधन का मक’सद बिहार की राज’नीति, सरकार और सा’मान्य जीवन में उपे’क्षित व’र्गों, दलि’तों, आदिवा’सियों, अल्प’संख्यकों और अ’गड़ी जा’तियों के गरीब लोगों को बरा’बरी का ह’क दिलाना है. साथ ही बिहार में अभी तक कई बार गठ’बंधन की सर’कारें बन चुकी हैं. लेकिन उनमें से किसी ने भी इस राज्य के गरीबों और द’लितों के उ’त्थान के लिए कोई ठो’स कदम नहीं उठाये हैं. जाहिर है बिहार चुनाव को देखते हुए अभी सभी पार्टियां बिहार की जनता से बड़े बड़े वादे करने में लगी हुई है. वही बिहार की जनता ही काफी सम’झदार है और इसी दिखावे को बेहतर तरीके से समझती है. जिस वजह से अब देखना ये होगा कि आखिर बिहार की स’त्ता पर किसका व’र्चस्व स्था’पित होता है.