विधानसभा चुनाव में मिली हार के चलते हटाए जा सकते हैं दिल्ली अध्यक्ष मनोज तिवारी? ये नाम हैं रेस में

दिल्ली में हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी को करारी हार का सामना करना पड़ा था. 70 में से बीजेपी को 8 ही सीटें हासिल हुई थी. चुनाव के आखिरी समय में बीजेपी ने तमाम दिग्गज नेताओं को चुनाव प्रचार में उतार दिया था लेकिन केजरीवाल की मुफ्त योजनाओं के आगे सब धराशाई हो गया. जब नतीजे आए तो आम आदमी पार्टी ने भारी बहुमत से अपनी सरकार बनाई और अरविंद केजरीवाल तीसरी बार मुख्यमंत्री बने.

जानकारी के लिए बता दें दिल्ली में बीजेपी को मिली हार के बाद शीर्ष स्तर पर जल्द ही बदलाव देखने को मिल सकता है. पार्टी के नए अध्यक्ष जेपी नड्डा के नेतृत्व में इन दिनों कई राज्यों में बीजेपी के नए अध्यक्षों की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू कर दी है. इसी कड़ी में तेलंगाना, झारखंड, तमिलनाडु और महाराष्ट्र के बाद अगला नंबर दिल्ली का बताया जा रहा है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि अगले 8-10 दिन में दिल्ली में नए अध्यक्ष को लेकर फैसला लिया जा सकता है.

दिल्ली में नए अध्यक्ष को लेकर ये भी तय माना जा रहा है कि चुनाव नही होगा बल्कि शीर्ष नेतृत्व के द्वारा ही सीधे नियुक्ति की जाएगी. सूत्रों के अनुसार बताया गया है कि मंगलवार को दिल्ली के तमाम प्रमुख पदाधिकारियों और नेताओं की वन टू वन मीटिंग हुई, जिसमें प्रदेश नेतृत्व में परिवर्तन को लेकर उनका फीडबैक लिया गया. राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के निर्देश पर पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री मुरलीधर राव और महिला मोर्चे की राष्ट्रीय अध्यक्ष विजया राहाटकर को इस काम की जिम्मेदारी सौंपी गयी है.

गौरतलब है कि पार्टी को लंबे समय से एक फुल टाइमर अध्यक्ष की मांग है. पार्टी को ऐसे शख्स की जरुरत है जोकि संगठन के लिए पूरा समय देकर मजबूती प्रदान करवा सके. ताकि आने वाले दो साल बाद एमसीडी चुनाव में भाजपा अच्छा प्रदर्शन कर सके. वहीं दिल्ली में नए अध्यक्ष की रेस में ये नाम शामिल पाए जा रहे हैं. जिसमें सतीश उपाध्याय, गौतम गंभीर, कुलजीत चहल, आशीष सूद, विजेंद्र गुप्ता, डॉ. हर्षवर्धन सिंह, प्रवेश वर्मा, जयप्रकाश, और पवन शर्मा शामिल हैं.