ये गाना गाकर मनोज तिवारी ने किया केजरीवाल पर पलटवार

1091

दिल्ली की बात करें तो इस समय दिल्ली में ठंड़ का पारा कुछ कम हुआ है. लेकिन राजनीति का पारा पूरी तरह से दिल्ली पर चढ़ा हुआ है. दिल्ली में अभी तक सभी राजनीतिक लोगों का मनना था कि आम आदमी पार्टी पूरी तरह से एक तरफा दिल्ली का चुनाव जीत लेगी. लेकिन कहते है कि राजनीति का ऊंट कब किस करवट बैठेगा किसी को पता नही होता है.

आज दिल्ली की राजनीति में एक बड़ा बदलाव दिख रहा है. भाजपा ने दिल्ली चुनाव को जीतने के लिए आखरी वक्त मे पूरी ताकत झोक दी हैं. बीजेपी ने अपने तेज तर्रार नेता और उत्तर प्रदेश के मुख्यामंत्री योगी आदित्यनाथ को 4 दिन के लिए चुनाव प्रचार में उतार दिया है. योगी के चुनाव प्रचार में उतरने के बाद सभी विपक्षी पार्टीयां भाजपा की राह पर चलती हुई दिख रही है.

आज दिल्ली के मुख्यामंत्री केजरीवाल जो अभी तक अपने काम पर वोट मांग रहे थे, वो आज धर्म की राजनीति करने लगे हैं. ये बात इसलिए बता रहा हूं, क्योकि आज दिल्ली में योगी की जनसभा के बाद केजरीवाल ने एक टीवी को इंटरव्यू देते हुए बताया कि वो भी ‘हनुमान’ के भक्त है.

बीजेपी ने केजरीवाल को घेरने के लिए आज दिल्ली के प्रदेश अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी और भोजपुरी सिंगर मनोज तिवारी की आवाज में ‘रिंकिया के पापा’ गाने का रीमिक्स आया है, जिसमें कहा गया है कि ‘दिल्ली के पसंद बा रिंकिया के पापा’. 7.30 मिनट के गाने में बगैर नाम लिए मुख्यमंत्री अरविंद पर तंज कसा गया है. इसमें बोला गया है कि पूरब के मजदूरों से नाराज बाड़े पलटुआ के काका, काहे परेशान बाड़े पलटुआ के काका, कैसे खिसयात बाड़े पलटुआ के काका, दिल्ली से खतम होई पलटुआ का स्यापा, दिल्ली के पसंद बा बिटया के पापा.गाने में बीजेपी के घोषणापत्र के वादों का भी जिक्र है. इसमें कच्ची कॉलोनियों को मोदी द्वारा दिए मालिकाने हक को भी बताया गया है. अंत में मनोज तिवारी ने बीजेपी की सरकार बनाने की अपील की है.

दरअसल, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के बारे में कहते रहे हैं कि वे गाते अच्छा हैं.उन्होंने ‘रिंकिया के पापा’ गाने का भी जिक्र किया था. इसे मनोज तिवारी ने पूर्वांचल के लोगों एवं उनकी संस्कृति का अपमान करार दिया था. उन्होंने कहा था, गाने का मजाक बनाकर ‘आप’ और केजरीवाल ने समाज में बेटियों एवं महिलाओं की भूमिका को नीचा दिखाया है.