दिल्ली में स्कूल खुलने को लेकर दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने किया बड़ा ऐलान

देश की राजधानी दिल्ली में भी अब कोरोना बेकाबू हो जाता जा रहा है. मुंबई के बाद अब दिल्ली में बेहद तेजी से कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है जिसके बाद सरकार के पसीने छूटे हुए हैं. दिल्ली में कोरोना के मरीजों की संख्या 31 हजार के पार हो गयी है. वहीँ अगर पूरे देश की बात करें तो हर दिन अब करीब 10 हजार कोरोना के मरीज बढ़ते जा रहे हैं.

जानकारी के लिए बता दें देश में अब जिस तेजी से मरीजों की संख्या बढ़ रही है उस हिसाब से भारत कई देशों को पीछे छोड़कर आगे पहुंच सकता है. सबसे ज्यादा हैरानी की बात ये है कि अभी तक इस बीमारी की कोई दवा नहीं बन पायी है. वहीँ दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने अभी हाल ही में चिंता व्यक्त करते हुए बयान दिया था कि जुलाई तक दिल्ली में 5 लाख से ज्यादा मरीज हो सकते हैं.

मनीष सिसोदिया ने एक बार फिर यही बात कही है और प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर भी कहा है कि अस्पतालों में बेड भी तैयार हैं. साथ ही उन्होंने दिल्ली की स्थिति को देखते हुए उन्होंने दिल्ली के स्कूलों को लेकर स्थिति स्पष्ट कर दी है. उन्होंने कहा है कि ऐसी स्थिति में स्कूलों को फिर से खोलने का तो सवाल ही नहीं उठता है. उन्होंने कहा कि स्कूलों को खोलकर फिर से उन्हें बंद नहीं कर सकते इस तरह का प्रयोग नही किया जा सकता है.

गौरतलब है कि चीन के वुहान शहर से फैला ये वायरस धीरे धीरे पूरी दुनिया में फ़ैल गया और अब तक हजारों लोग इस वायरस के चलते अपनी जान दे चुके हैं. अमेरिका में सबसे ज्यादा कोरोना के मरीज हैं. अब भारत में मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी अभी हाल ही में हल्का बुखार और खांसी की शिकायत थी, जिसके बाद उन्होंने खुद को घर में ही आइसोलेट कर लिया था और फिर उनका कोरोना टेस्ट किया गया था. हालाँकि उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है लेकिन सूबे में हर दिन 1 हजार मरीज बढ़ रहे हैं.