ममता के प्रधानमंत्री पर बिगड़े बोल, मोदी को बताया पाकिस्तान का राजदूत

396

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एक बार फिरसे सड़क पर उतर आई हैं.उन्होंने हाल ही में  मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि आप हमेशा हमारे देश की तुलना पाकिस्तान से क्यों करते हैं? “आप भारत के प्रधानमंत्री है या फिर पाकिस्तान के एम्बेसडर हैं. आपको हिंदुस्तान की बात करनी चाहिए. हम पाकिस्तान नहीं बनना चाहते. हम हिंदुस्तान से प्यार करते हैं’’.

ममता बनर्जी ने कहा कि पाकिस्तान की चर्चा पाकिस्तान से करें, हम हिंदुस्तान की चर्चा करेंगे, ये हमारी जन्मभूमि है. इतने सालों बाद फिर हमें अपनी नागरिकता साबित करनी पड़ेगी. गृह मंत्री कहते हैं कि हां देश में NRC होगी और प्रधानमंत्री कहते हैं कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए और भी तमाम बातें कहीं वो बोलीं कि जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी के हॉस्टल के अन्दर जाकर पुलिस ने वहां पर निर्दोष बच्चों को पीटा है. यूपी सरकार पर आरोप लगते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि वहां 23 बेगुनाह आदमियों को गोली मार दी.उन्होंने कहा कि हमे कोई फर्क नहीं पड़ता है कि (बीजेपी) हमें कितनी भी  गाली दे. एनआरसी को लेकर हम अपना विरोध प्रदर्शन निरस्त नही करेंगे और जब तक बीजेपी सरकार सीएए कानून वापस नही लेती है, तब तक हम अपना विरोध प्रर्दशन सरकार के खिलाफ जारी रखेंगे.

इसके साथ ही ममता बनर्जी ने कहा कि हम पश्चिम बंगाल में एनपीआर की बिल्कुल भी इजाजत नहीं देने वाले हैं. हालाँकि इससे पहले हमने ये सोचा था कि यह सिर्फ जनगणना का ही एक छोटा सा हिस्सा था, मगर अब हमें इससे जुडी जानकारी मिली है और हमको पता चला है कि वे इसको लेकर कई तरह की जानकारियां और विवरण मांग रहे हैं. उनको ये समझना होगा कि हमारा पता पाकिस्तान नहीं है. औरों की तरह ही हम भी स्वतंत्र भारत के नागरिक हैं और उन्हें हमारा अधिकार छीनने का कोई भी हक़ बिल्कुल नहीं है.