आज की चौपाल में पढ़िए खबर ममता बनर्जी और सीबीआई में चल रहे घमासान की

283

आजकल बड़ी खबरों में क्या छाया हुआ है …ममता बनर्जी और सीबीआई….इस खबर में नया क्या है….राहुल गांधी की पार्टी के दो तरफे राजनिती की भी बात होगी….और भी ऐसी खबरे आपको बताएंगे…जिसे जानना आपको बेहद जरूरी है…
तो पहले बात राजनिती की करते है…ममता बनर्जी केंद्र सरकार और सीबीआई दोनों के विरोध में धरना प्रदर्शन कर रही है….सीएम ममता को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का समर्थन प्राप्त है तो वहीं दूसरी ओर..राज्य की कांग्रेस इकाई ममता और उनकी पार्टी टीएमसी के खिलाफ राज्यभर में प्रदर्शन करने की तैयारी कर चुकी है…पश्चिम बंगाल कांग्रेस चिट फंड मामले में ममता बनर्जी और उनकी पार्टी की मिलीभगत के खिलाफ प्रदर्शन करने वाली है..मिली जानकारी के अनुसार…बंगाल कांग्रेस राज्य भर में 6 फरवरी को विरोध प्रदर्शन करेगी. कांग्रेस इस दौरान शारदा चीट फंड और रोज़ वैली घोटाले की जांच जल्द से जल्द नतीजे तक पहुंचाए जाने की मांग करेगी. इसके साथ ही निवेशकों के पैसे उन्हें लौटाने और आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कांग्रेस करने वाली है..
पश्चिम बंगाल कांग्रेस अध्यक्ष सोमेंद्र नाम मित्रा ने कहा, टीएमसी ने कांग्रेस के 14 विधायकों और मालदा सांसद मौसम नूर को पार्टी में शामिल होने को मजबूर किया. कांग्रेस कार्यकर्ताओं की हत्या की और लोकतांत्रिक ढांचे के खिलाफ काम किया. मित्रा ने सवाल किया कि इतना कुछ होने के बाद भी कैसे मैं टीएमसी से हाथ मिला सकता हूं?
इस मामले के अलावा भी कई बार ऐसा हुआ है कि कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व और राज्य ईकाई का स्टैंड एक ही मुद्दे पर अलग-अलग रहता है. एक ओर इस मामले में भी ममता को राहुल का समर्थन प्राप्त है लेकिन राज्य कांग्रेस के नेता इसके खिलाफ हैं….ये तो हुई खबर…लेकिन सवाल आपसे है….कांग्रेस पार्टी का इस तरीके से समर्थन और विरोध करना कहां तक सही है…सवाल ये भी है की क्या कांग्रेस पार्टी के अंदर ही दो खेमे बने हुए है..राष्ट्रीय कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी किसी और टैक्ट पर तो राज्य के कांग्रेस अध्यक्ष किसी और टैक्ट पर…..एक ही पार्टी के दो खेमें ये साफ दिखाई दे रहे है…
बात दें की सोनिया गांधी और राहुल गांधी पूर्व में कई बार ममता के साथ रैली में शामिल हुए हैं. इसके बाद कयास लगाया जाता है कि कांग्रेस और टीएमसी गठबंधन करेंगे लेकिन यहां के नेताओं ने हमेशा से इसे खारिज किया है….इस खबर पर आपकी क्या राय है हमें कमेंट बॉक्स में बताइऐ….
2…एक और खबर है जो रेलवे की दरियादिली को दिखाता है…यूं तो रेलवे यात्रियों के लिए आए दिन नई-नई सुविधाए दे रही है… बता दें की इसी साल की शुरुआत से रेलवे पर अब कोई जमादार नहीं होगा। अब इन लोगों को सहायक कहकर संबोधित किया जाएगा। अब यहां कोई सफाईवाला भी नहीं कहलाया जाएगा। अब सफाई करने वालों को हाउसकीपिंग असिस्टेंट कहा जाएगा। इसके साथ ही रेलवे पर काम करने वाले चौकीदार, कुक, पिओन्स और वेटर आदि को भी सहायक ही कहा जाएगा। अब ये सभी असिस्टेंट कहलाएंगे जो कि विभागों में बंटे होंगे….देश में स्वच्छ भारत के तहत सफाई तो पहले शुरू हो चुकी थी लेकिन अब औपनिवेशिक सफाई की शुरुआत हुई है..ताकि यहां के सबसे बड़ी संख्या वाले सबसे पुराने कर्मियों को सम्मान मिल सके..रेलवे बोर्ड ने मान्यता प्राप्त श्रमिक संघों के साथ आंतरिक विचार-विमर्श करने के बाद ये फैसला लिया और बीते महीने इससे संबंधित नोटिफिकेशन सर्कुलेट किए गए..
इसका मतलब ये हुआ कि अब कुक और वेटर की ही तरह सफाई करने वाला, रोटी बनाने वाला या फिर चाय/कॉफी बनाने वाला भी सहायक ही कहलाया जाएगा।
3….वहीं खबरों में आगे बढ़ते है और बात करते है की क्रिकेट में क्या खास है…न्यूजीलैंड में मिली शानदार वनडे जीत के बाद भारतीय टीम की कोशिश टी-20 सीरीज में भी इसको बरकरार रखने की होगी..वही, पूर्व भारतीय क्रिकेटर और कॉमेंटेटर सुनील गावस्कर का मानना है कि भले ही हाल फिलहाल में धोनी शानदार फॉर्म में रहे हों लेकिन उन्हें टी20 सीरीज की प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किया जाना चाहिए….गावस्कर ने स्टार स्पोर्ट्स से बातचीत में कहा है टीम इंडिया को इस सीरीज में धोनी की बजाय युवा खिलाड़ियों को मौका देना चाहिए. इस तरह से धोनी को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू सीरीज के पहले आराम मिल जाएगा….इसके बाद ही टीम इंडिया वर्ल्ड कप को मद्देनजर रखते हुए फैसले ले पाएगी. हम जानते हैं कि एमएस धोनी वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा होने वाले हैं.”….
बता दें की धोनी ने 2018 में बल्ले से खराब प्रदर्शन करने के बाद इस साल रनों की बौझार कर दी..उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में 3 अर्धशतक लगाए और भारत को ऑस्ट्रेलिया की सरजमीं पर पहली बार द्विपक्षीय वनडे सीरीज में जीत दिलवाई….
4….इसके बाद खबरों में आगे बढ़ते है और बात करते है मनोरंजन से क्या खास है आपके लिए..विक्की कौशल अब एक ऐसा रिकॉर्ड बनाने जा रहे हैं जिसे अभी तक कोई और नहीं तोड़ पाया है…जम्मू कश्मीर के उरी सेक्टर में हुए आतंकी हमले के बाद, भारतीय फौज द्वारा पाकिस्तान की सीमा में घुसकर सर्जीकल स्ट्राइक्स करने की कहानी पर बनी ‘उरी द सर्जीकल स्ट्राइक’ बॉक्स ऑफ़िस पर नये कीर्तिमान बना रही है…सही मायने में ‘उरी’ विक्की कौशल की पहली फ़िल्म है, जिसमें उन्होंने लीड रोल निभाया है..विक्की कौशल की फ़िल्म ‘उरी द सर्जीकल स्ट्राइक’ चौथे हफ़्ते में चल रही है, मगर दर्शकों को जोश अभी भी हाई है, जिसके चलते ‘उरी’ ₹200 करोड़ के पड़ाव से महज़ ₹11 करोड़ दूर है। इस फ़िल्म के साथ विक्की कौशल ऐसा रिकॉर्ड बनाने वाले हैं, जो बॉलीवुड के ख़ान भी नहीं बना सके हैं और आने वाले कुछ समय तक इस रिकॉर्ड को तोड़ पाना सम्भव नहीं होगा….जैसे ही उरी 200 करोड़ के क्लब में शामिल होगी वैसे ही विक्की कौशल इस क्लब में पहुंचने वाले सबसे यंग एक्टर बन जाएंगे.. विक्की अभी 30 साल के हैं..उम्र के हिसाब से ₹200 करोड़ क्लब में पहुंचने वाले एक्टर्स में विक्की कौशल सबसे आगे हैं…