पाकिस्तान के दोस्त मलेशियाई पीएम को लगा एक और बड़ा झटका

258

भारत के खि’लाफ CAA और क’श्मीर मु’द्दे पर ब’यान’बाजी करने वाले महातिर मोहम्मद सु’र्ख़ियों में बने रहते है. अभी कुछ दिनों पहले ही महातिर ने अचानक इ’स्तीफे दे दिया था जिसके बाद क’यास लगे गए थे कि महातिर एक बार फिर से वापस सत्ता में आएंगे और प्रधानमंत्री का पद संभालेंगे. दरअसल माहिर ने भारत के खि’लाफ ब’यान’बाजी की थी जिसके बाद PM मोदी ने स’ख्त कार्यवाई करते हुए मलेशिया से पाम ऑइल की खरीद पर रोक लगा दी थी. जिसका असर मलेशिया की JDP देखने को मिला और इसी के साथ उन को अपने पद से इ’स्तीफा भी देना पड़ा.

लेकिन क’यास लगाये गए थे कि महातिर फिर से नयी पार्टी के साथ सत्ता में आएंगे और प्रधानमंत्री के पद को सँभालते हुए कार्यभार को अपने हाथों में लेंगे. लेकिन महातिर के लिए बुरी खबर है क्यूंकि अब मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर नहीं बल्कि मोहिउद्दीन यासीन को नया प्रधानमंत्री चुना गया हैं. मोहिउद्दीन यासीन मलेशिया के राजभवन में पूर्व गृहमंत्री रह चुके हैं. जिसके बाद अब उनको प्रधानमंत्री के रूप में चुना गया है. आपको बता दें महातिर मोहम्मद ने इससे पहले कई को’शिश की वो वापस प्रधानमंत्री का पद पर अपना क’ब्ज़ा कर सके लेकिन उनको इस बार हा’र का सामना करना पड़ा.

गौरतलब हैं भारत के खि’लाफ CAA और क’श्मीर के आंतरिक मा’मलों पर ह’स्तक्षेप करने की वजह से भारत और मलेशिया के रि’श्तों में ख’टास आ गयी थी. जिसके बाद भारत ने मलेशिया के साथ अपने व्या’पारिक सं’बंधो पर रो’क लगा दी. जिसका असर मलेशिया की आ’र्थिक स्थि’ति पर पड़ा और इसका मु’ख्य का’रण महातिर का भारत के खि’लाफ ज’हर उ’गलना था. जिसका खा’मियाजा मलेशिया की जनता को चुकाना पड़ा . जिसके कारण ही महातिर को अपने पद से इ’स्तीफा देना पड़ा और अब सत्ता में वापसी के भी उनके दरवाजे मलेशिया के राजा ने मोहिउद्दीन यासीन को नया प्रधानमंत्री बना के बंद कर दिए हैं. अब देखना यह होगा कि महातिर इस शि’कस्त के बाद क्या नया कदम उठाते है.