लोगों के जय हिन्द बोलने पर सवाल उठाने वाली महबूबा मुफ़्ती को झेलनी पड़ी फजीहत

505

अब अपना भारत बदल गया है, फिजाओं में देशभक्ति का रंग घुल रहा है। जो देशभक्ति कहीं छुपी सी बैठी थी अब वो बाहर निकलने लगी है।
देशभक्ति वाली पावन गंगा में डुबकी लगाते एयर इंडिया कंपनी ने भी कह दिया कि भाई हमारी उड़ान में प्रत्येक क्रू मेंबर यानी  विमान में यात्रियों की सेवा पानी करने वाले लोगो को हर घोषणा के आख़िर में जोश के साथ जय हिंद बोलना ज़रूरी है। अधिकारियों का कहना था कि पैसेंजर में जोश भरने के लिहाज़ से ये कदम उठाया गया है। आपको यहां भी जानना ज़रूरी है कि फिलहाल एयर इंडिया में 3500 केबिन और 1200 कॉकपिट क्रू है।

 
अब देशहित में कोई कदम उठाया जाए और कोई उसका विरोध ना करे अपने भारत में तो भाई साहब ये कतई पॉसिबल नही है।
इस बार भी ऐसा ही हुआ जम्मू कश्मीर वाली महबूबा मुफ्ती को एयर इंडिया की ये बात सीधे सीने में किसी कांटे की तरह चुभ गई और उन्होंने तुरंत अपना  लैपटॉप उठाया और निकाल दिया गुस्सा।


अपने ट्विटर एकाउंट पर मैडम ने लिखा कि थोड़ा आश्चर्य है कि लोकसभा चुनाव को नजदीक देखकर देशभक्ति का जोश अब आसमान तक पहुँच गया है।

 वैसे इससे पहले ये मैडम इससे पहले एयर स्ट्राइक पर भी सवाल उठा चुकी है।
ख़ैर, इधर मैडम ने पोस्ट डाला और उधर लोग भी हो गए शुरू,देशहित के मसले पर अच्छे अच्छे लीडर्स की क्लास लगाने वाले यूजर्स ने महबूबा मुफ़्ती को भी नही बक्शा ।

अरुण नायक लिख रहे हैं कि जय हिंद,मुझे तो लगता है कि यही है पाकिस्तान की खतरनाक आतंकवादी।
दिनेश कह रहें हैं कि पाकिस्तान ज़िंदाबाद वालों को मिर्ची तो लगेगी ही।
इंद्राणी कह रहें है कि इनके दिलोदिमाग में सिर्फ जैश ही जैश है। इलाज़ जारी है।

सुनील कह रहे हैं कि धितकार है तुम पर,अगर तुम्हें जय हिंद बोलने में दिक्कत है तो तुम पाकिस्तान ही चली जाओ।


विपिन यादव लिख रहे हैं कि मोहतरमा अगर आपको ऐतराज है तो कृपया करके एयर इंडिया में ना बैठे लेकिन वे कुतर्क बिल्कुल पेश ना करे । भारत मे इलेक्शन तो हर समय चलते रहते हैं तो क्या इसका मतलब हमे कोई अच्छा कदम भी नही उठाना चहिए।


सिंह साहब कमेंट कर रहें हैं कि उन्हें भारत माता की जय भी ऐड करना चहिए।


माही राठौर कमेंट कर रहें है  कि तुझे मिर्ची क्यो लग रही है,जय हिंद का फरमान ही तो जारी किया था,जेहाद का तो नही। जय हिंद बोलना मेरा कर्तव्य नही अधिकार है।


अभिषेक कह रहे हैं कि जय हिंद,ईश्वर सबको सदबुद्धि दे,उम्र के साथ ये हो जाता है।


अभिषेक पांडेय सवाल पूछते हुए कह रहें हैं कि अल्लाह हू अकबर बोले क्या ?


राधे रमन लिख रहें हैं कि पाकिस्तान की महबूबा को 130 करोड़ भारतीयों की तरफ से जय हिंद,जय हिंद,जय हिंद


सूरी नाम के यूजर ने लिखा कि थोड़ा इंतजार करिए आपके आसपास ही और सरप्राइस आपका इंतज़ार कर रहें हैं।


राहुल कुमार के रहें हैं कि आंटी आप भी बोलिये जय हिंद जय भारत


संतोष पांडेय कह रहें हैं की आपकी तकलीफ समझ मे नही मोहतरमा,जय हिंद बोलने से भी जम्हूरियत को ख़तरा होता है क्या या कश्मीर के नौजवानों पर कोई जुल्म हो जाता है ?? ज़मीन हो या आसमां, दरिया हो या रेगिस्तान। हर जगह हिन्द की जय ही होगी।

लोग यही नही रुके बल्कि और भी बहुत कमैंट्स आए जिनमे मुफ़्ती को खरी खोटी सुनाई गई,कुछ कमेंट तो ऐसे थे कि जिन्हें पढ़ने की हिम्मत महबूबा मुफ्ती में तो बिल्कुल नही होगी। ज़िम्मेदार मीडिया संस्थान होने के चलते ऐसे कमेंट को हम भी नही दिखा सकते।

ख़ैर, हम यही कहेंगे कि अब वो वक्त चला गया जिसमें कोई भी हमारे देश को गरिया देगा। ये बदलते भारत की जनता है जो ना तो गलत सुन सकती है और ना देख सकती है। ऐसे में देश के बारे में कुछ भी बोलने से पहले 20 बार सोचे वरना जनता इससे भी बुरी तरह से सुनाएगी और तब आपके पास पछताने के अलावा और कोई चारा नही रहेगा।