महाराष्ट्र सरकार की बड़ी लापरवाही से हिमाचल पर छाया कोरोना का ख’तरा, हिमाचल सरकार ने बि’ठायी जांच

358

कोरोना संक्रम’ण को लेकर हर जगह सावधानी रखी जा रही है. ताकि इससे लोगो का बचाव हो सके. और नए माम’लों में वृद्धि न हो. जिसके लिए सरकार की तरफ से हर मुम’किन कोशिशे की जा रही है. वही केंद्र सरकार भी इस बात का पूरा ध्यान रख रही है. दरअसल कोरोना से संक्र’मित मामलों की संख्या 1 लाख के ऊपर पहुँच गयी है. जिसके बाद इस पर का’बू पाने के लिए हर सम्भ’व कोशिशे हो रही है.

इसी के बीच एक लाप’रवाही का खुला’सा हुआ है. दरअसल हमीरपुर में 15 लोगो की कोरोना रिपो’र्ट नेगे’टिव बता कर उन्हें घर भेजने दिया गया. जिसके बाद शिमला से कोरोना की पॉजि’टिव रिपोर्ट आने के बाद प्र’शासन में हड’कंप मच गया.  अब सभी कोरोना संक्र’मितों को घर से कोरोना केयर सेंटर में शि’फ्ट किया गया है.

मामले की जानकारी मिलने के बाद एसडीएम भोरंज ने सभी पॉजि’टिव लोगों को घर भेजने के आदेश जारी किए है. साथ इस इस मामले की जांच के लिए बैठक भी बुलाई है. इस मा’मले की सरकार ने रिपोर्ट को दी गयी है. साथ ही  प्रशा’सनिक अफसरों स’मेत अस्पताल प्रशा’सन के भी कई अधिका’रियों के ऊपर कार्यवाई हो सकती है.

बता दें ये सभी 15 लोग मुंबई से हमीरपुर लौटे थे जिन्हें जवाहर नवोदय विद्यालय डुंगरी भोरंज में संस्थागत क्वारं’टीन किया गया था.  गौरतलब है महाराष्ट्र सरकार की इतनी बड़ी चू’क के बाद सवाल ये उठता है. कि इससे पहले जितने भी लोगो को घर भेजा गया है. उनमे से कितने लोग संक्र’मित थे और कितने नहीं साथ ही प्रशा’सन की इतनी बड़ी लापरवाही की वजह से उन 15 लोगो के साथ साथ उनके घरवालों की जा’न भी खत’रे में पड़ गयी है.