कोरोना ने पूरी दुनिया में इस समय हाहाकार मचा रखा है. सरकार एक के बाद एक बड़ा कदम उठा रही है और पब्लिक ट्रांसपोर्ट जैसी सुविधाओं को बंद कर रही है जिससे एक साथ ज्यादा लोग एक जगह एकत्रित ना हो और ये वायरस और लोगों में न फैले. वहीं केंद्र सरकार और राज्य सरकारें लगातार लोगों से अपील कर रही हैं कि वह इस मुश्किल भरे समय में घर में ही रहें. मोदी सरकार के साथ राज्य सरकारें भी अपनी देश की जनता को इस गंभीर बीमारी से बचाने के लिए लगातार एक के बाद एक बड़े कदम उठा रही है. कोरोना के संक्रमण के खतरे को देखते हुए भारतीय रेलवे ने 31 मार्च तक सभी यात्री ट्रेनों को कैंसल कर दिया है.

जानकारी के लिए बता दें भारत में सबसे ज्यादा संक्रमित लोग इस समय महाराष्ट्र में पाए गये हैं, जिसके चलते वहां की राज्य सरकार ने अब बड़ी घोषणा कर दी है. कोरोना के लगातार फ़ैल रहे संक्रमण को रोकने के लिए सीएम उद्धव ठाकरे ने राज्य में कर्फ्यू का ऐलान किया है ताकि लोग घरों में रहें. सरकार ये कदम जनता की भलाई के लिए ही उठा रही हैं ताकि लोग अपने घरों में रहें.

सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा है कि राज्य की सीमाएं सील कर दी गयी हैं. इसके अलावा जिले की सीमा पर चौकसी बरती जा रही है और समूह में लोगों को कही जाने नहीं दिया जा रहा है. इससे पहले पंजाब में भी अपने राज्य में इस संक्रमण को रोकने के लिए पंजाब में कर्फ्यू लगा दिया था. अब भी लोग नहीं मानते हैं और सरकार के निर्देशों का पालन नही करते हैं तो अंजाम बेहद ही भयावह हो सकते हैं.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र सरकार ने राज्य में कर्फ्यू लगाने के साथ एक और बड़ा कदम उठाया है. सीएम उद्दव ठाकरे ने कहा है कि राज्य के अंदर आने वाले सभी धार्मिक स्थानों को भी बंद करने का आदेश दिया है. उन्होंने कहा है कि इन धार्मिक स्थानों पर सिर्फ धर्मगुरु ही पूजा कर सकते हैं. पब्लिक के लिए इन स्थानों को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है.