लॉकडाउन होने के बाद भी मध्यप्रदेश के अंदर लोगों ने नहीं मानी सरकार की बात, जारी हुआ फरमान

1368

सरकार द्वारा सम्पूर्ण देश को 21 दिन के लिए लॉकडाउन करने का ऐलान पीएम मोदी ने किया था ताकि देशवासियों को कोरो’ना से बचाया जा सके. लेकिन कुछ लोगों को आज भी ये बात समझ नहीं नहीं आ रही है और वो लोग लॉकडाउन को मजाक समझ रहें हैं. जबकि शासन और प्रशासन पूरी तरह से लगा है लोगों को समझाने के बारे में कि लॉकडाउन का पालन करें जनता और उसको सख्ती से पालन करने के लिए हर तरह का पैंतराअपना रही है.

लॉक डाउन करने का एक ही मकसद था कि कोरो’ना को देश के अंदर से जितनी जल्दी हो सके उसको यहाँ से भगाया जा सके. लेकिन अपने को समझदार समझने वाले लोग जो की निहायती जाहिल हैं. आज उनकी वजह से कोरो’ना को खत्म करने की जगह और बढ़ा दिया है. कोरो’ना को लेकर आज के वक़्त में सभी धार्मिक स्थल बंद कर दिए गए हैं.

इन सबके बीच भी कुछ लोग आज भी समझने को तैयार नहीं हैं. ऐसा ही कुछ मध्यप्रदेश के छिंदवाडा  में 40 लोग मस्जिद के अंदर नमाज अदा कर रहे थे. जब ये बात प्रशासन को पता चली तो उसने तत्काल प्रभाव से सख्ती दिखाते हुए, 40 लोगों पर के’स द’र्ज किया है. क्योंकि दो दिनों में छिंदवाड़ा से भी कोरो’ना के के’स सामने आए हैं. इसके साथ ही यहां से जमा’ती भी मिले हैं.गुरुवार को छिंदवाड़ा के चौराई इलाके में एक मस्जिद में नमाज के लिए भी’ड़ जमा हुई थी. चौराई थाना के प्रभारी ने कहा कि ये सभी लोग मस्जिद में नमाज के लिए जमा हुए थे और धारा-144 का उल्लंघन किया है. महा’मा’री एक्ट और अन्य धारा’ओं के तहत 40 लोगों पर के’स दर्ज किया गया है.

इस वक़्त जितने कोरो’ना के मामले सामने आ रहे देश के ये सारी जमा’तियों की हैं जो दिल्ली के म’रकज़ से वापस आकर पूरे देश के अंदर फैला दिया हैं. ये लोग इतने मंदबुद्धि है की कोरो’ना पॉजिटिव होने के बाद भी इलाज नहीं करवा रहें और लोगों को दे जरुर रहें हैं कोरो’ना जैसी बीमारी. जबकि इनकी जान बचाने के लिए डॉक्टर, पुलिस, नर्स रात दिन लगे हुए हैं और सरकार भी इनको हर तरह से मदद कर रही है. लेकिन इन लोगों को समझ नहीं आ रहा हैं.