पांचवें चरण में राहुल, सोनिया, राजनाथ समेत कई दिग्गजों की किस्मत का होगा फैसला , जानें पूरी ख़बर

423

2019 लोकसभा चुनाव के लिए अबतक चार चरणों का मतदान संपन्न हो गया है. आज पांचवें चरण के लिए 7 राज्यों के 51 संसदीय क्षेत्रों में वोटिंग जारी है. इस चरण में कई बड़े नेताओं के भाग्य का फैसला होना है . आज होने वाले वोटिंग में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह समेत कई राजनीतिक दिग्गजों की किस्मत का फैसला होगा. पांचवें चरण में उत्तर प्रदेश की 14 सीटों पर वोटिंग होगी.  ऐसे में आइए जानते हैं इस चरण में कौन-कौन से वीआईपी उम्मीदवार हैं.

पांचवें चरण में लखनऊ से गृहमंत्री राजनाथ सिंह, अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, रायबरेली से यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, अमेठी से केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, लखनऊ से सपा नेता पूनम सिन्हा, फैजाबाद से पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल खत्री, धौरहरा से पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद जैसे दिग्गजों की किस्मत का फैसला होगा. सबसे पहले बात करते है पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की, परम्परागत सीट रही लखनऊ की। लखनऊ सीट पर 1991 से बीजेपी का कब्जा है. अटल जी के बाद से इस सीट पर 2009 में यहाँ से लाल जी टण्डन को टिकट मिला था, और वो जीत कर लोकसभा पँहुचे थे। 2014 में यहाँ से बीजेपी ने राजनाथ सिंह को मैदान में उतारा था। बताने की जरूरत नही कि उन्होंने यहां से बम्पर वोट से जीत हासिल की थी। एक बार फिर लखनऊ से केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह यहां से चुनावी मैदान में है। और उन के सामने sp-bsp गठबंधन प्रत्याशी पूनम सिन्हा और कांग्रेस प्रत्याशी प्रमोद कृष्णम हैं. पूनम सिन्हा हाल ही में बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में आए शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी हैं. लखनऊ के वोटर आज किसके भाग्य का फैसला करेंगे ये आने वाले 23 मई को ही पता चलेगा।

अब बात करते हैं यूपी की एक और हॉट सीट अमेठी की। यह सीट कांग्रेस पार्टी का गढ़ माना जाता है. ये हमेशा से गांधी परिवार की परंपरागत सीट रही है। यहां के वोटर गांधी परिवार के लोगो मे हमेशा से भरोसा दिखाते आये है। लेकिन 2014 के चुनावों ने यहां के माहौल में काफी कुछ बदल दिया था। पिछली बार एक करीबी मुकाबले में राहुल गांधी ने स्मृति ईरानी को हरा तो दिया था, लेकिन हार का अंतर ज्यादा नहीं था इसलिए एकबार फिर इस सीट पर कड़ी टक्कर होने की संभावना है. देखने वाली बात ये है की क्या जनता इस बार फिर राहुल को जिताएगी या फिर स्मृति इरानी को मौक़ा देगी। अगर स्मृति ईरानी इस बार जीतने में कामयाब होतीं है तो अमेठी में पहली बार इतिहास रचा जाएगा। अमेठी की कड़ी टक्कर को आप ऐसे भी महसूस कर सकते है कि राहुल गांधी इस बार दो जगहों से चुनाव लड़ रहे है। शायद वो अपनी जीत को लेकर confident नही है। हमारी चौपाल की टीम पिछले दिनों अमेठी गयी थी तो वहां के लोगो का क्या रिएक्शन था ये आप देख सकते है। (अपने आउटडोर की कोई क्लिप लगवा देना ) चलिए ये देखना रोचक होगा कि अमेठी इस बार क्या करने जा रही है।

अब बात करते है यूपी की ही एक और परम्परागत सीट रायबरेली की। रायबरेली में यूपी की दूसरी ऐसी सीट सीट है जिसे गांधी परिवार की परंपरागत सीट भी मानी जाती है. उस सीट पर यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी एक बार चुनावी मैदान में हैं. वह इस सीट से चार बार सांसद रह चुकी हैं. यहां से इस बार उनके खिलाफ बीजेपी के दिनेश प्रताप सिंह मैदान में हैं. यहाँ मुकाबला काफी हद तक एकतरफा दिखाई दे रहा लेकिन फिर भी अंतिम नतीजों के लिए हमे 23 मई का इंतज़ार करना होगा।

lok sabha election 2019 VIP Candidate in fifth phase of voting

पांचवें चरण के लिए कुल 94,000 मतदान केंद्र और बूथ बनाए गए हैं। चुनाव आयोग ने सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए हैं। इस चरण के साथ ही कुल 424 लोकसभा सीटों पर मतदान संपन्न हो जाएगा। 12 और 19 मई को बचे हुए आखिरी दो चरणों में 118 सीटों के लिए मतदान होगा। 23 मई को मतगणना होगी। जाते जाते आपसे यही कहूंगी अपने वोट का प्रयोग जरूर करें। अपने क्षेत्र के योग्य उम्मीदवार को ही चुने। धन्यवाद