लॉकडाउन बढ़ गया लेकिन इस बार बदल गए कुछ नियम, ट्रेन, प्लेन, मेट्रो बंद लेकिन खुल सकेंगी ये चीजें

9468

कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए मोदी सरकार ने लॉकडाउन को दो हफ़्तों तक और बढाने का ऐलान कर दिया. अब देश में 17 मई तक लॉकडाउन लागू रहेगा लेकिन इस बात लॉकडाउन की प्लानिंग इस तरह से की गई है ताकि लोगों को कुछ राहत मिल सके. इसके लिए देश को तीन जोन में बांटा गया है. रेड जोन, येलो जोन और ग्रीन जोन. गग्रीन ज़ोन के लोगों को तो थोड़ी राहत मिल सकेगी लेकिन रेड जों में पूरी तरह से सख्ती रखी जायेगी.

आइये जानते हैं नई गाइडलाइन

पूरे देश को 733 जोनों में बांटा गया है. इनमें 130 रेड जोन, 284 ऑरेंज जोन जबकि 319 ग्रीन जोन घोषित किए गए हैं. जिन जिलों में कोरोना के एक भी केस पिछले 21 दिनों से सामने नहीं आये हैं, उन्हें ग्रीन जोन घोषित किया गया है. ग्रीन जोन में सभी तरह की आर्थिक गतिविधियाँ शुरू हो जायेंगी लेकिन सावधानी के साथ. ग्रीन जोन वाले जिलों में सैलून समेत अन्य जरूरी सेवाओं और वस्तुएं मुहैया कराने वाले प्रतिष्ठान 4 मई से खुल जाएंगे. हालाँकि ग्रीन जोन में आने के बावजूद सिनेमा हॉल, मॉल, जिम, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स आदि बंद रहेंगे.

ग्रीन जोन इलाकों में बसों का परिचालन तो शुरू हो जाएगा लेकिन बसों की क्षमता 50% से ज्यादा नहीं होगी. यानी, अगर किसी बस में 50 लोगों के बैठने की क्षमता है तो उसमें 25 से ज्यादा यात्री नहीं चढ़ेंगे. डीपो में भी 50% से ज्यादा कर्मचारी ही उपस्थित रहेंगे. ग्रीन जोन में आने के बावजूद भी हवाई यात्रा, रेल, मेट्रो और राज्य के भीतर परिवहन पर लगी पाबंदी जारी रहेगी. स्कूल, कॉलेज, संस्थान, हॉस्पिटैलिटी सर्विस, होटल और रेस्त्रां भी बंद रहेंगे. धार्मिक स्थलों को भी बंद रखने के आदेश दिए गए हैं. ऐसा इसलिए किया गया है ताकि ग्रीन जोन में कोरोना का फैलाव नहीं हो सके.

ऑरेंज जोन में थोड़ी सख्ती ज्यादा होगी. ऑरेंज जोन वाले जिलों में बसें तो नहीं चलेंगी लेकिन कैब को अनुमति दी गई है. लेकिन शर्त ये है कि कैब में ड्राइवर के अलावा एक ही पैसेंजर को अनुमति दी जायेगी. ऑरेंज जोन में इंडस्ट्रियल ऐक्टिविटीज शुरू होगी और कॉम्प्लेक्स भी खुलेंगे लेकिन सावधानी के साथ. इसके लिए गृह मंत्रालय की तरफ से गाइडलाइन जारी की जाएगी कि ऑरेंज जोन में किस किन प्रतिष्ठानों को खोलने की अनुमति दी गई है.

रेड जोन में पूरी सख्ती जारी रहेगी. वहां किसी भी तरह की छूट नहीं दी जायेगी. पहले की तरह सभी चीजें बंद रहेंगी. राजधानी दिल्ली, उत्तर प्रदेश का नोएडा, मुंबई, अहमदाबाद, सूरत जैसे बड़े औद्योगिक केंद्र रेड जोन में हैं. वहां सब कुछ बंद रहेंगे और पूरी सख्ती रहेगी.