लॉकडाउन का बढ़ना तय, लेकिन इस बार कुछ इस तरह से लागू हो सकता है एक्शन प्लान, मिल सकती है कुछ छूट

5938

देश में जिस तेजी के साथ कोरोना के केस बढ़ रहे हैं उसे देखते हुए ये तय हो गया है कि लॉकडाउन को आगे बढाया जाएगा. उसके अलावा और कोई विकल्प भी नहीं बचा है. मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम मोदी की बैठक के बाद भी यही संकेत निकल कर सामने आये कि लॉकडाउन को आगे बढ़ाना पड़ सकता है. अटकलें ये भी लगाई जा रही है कि इस बार लॉकडाउन को कुछ शर्तों के साथ आगे बढाया जा सकता है. इस बार अलग एक्शन प्लान बनाया जाएगा.

14 अप्रैल के बाद लॉकडाउन को कुछ अलग तरीके से आगे बढाया जा सकता है. केंद्र सरकार देश को तीन जोन में बांट सकती है. ये बंटवारा उस इलाके (जिले) में मिले कोरोना केसों के हिसाब से होगा. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ 14 अप्रैल के बाद बढ़ने जा रहे दूसरे चरण के लॉकडाउन के दौरान देश को रेड, यलो और ग्रीन जोन में बांटा जा सकता है. जहाँ कोरोना के सबसे ज्यादा केस हैं उसे रेड जोन में रखा जा सकता है. जहाँ कम केस हैं उसे येलो जोन में और जहाँ कोरोना के एक भी केस नहीं है उसे ग्रीन जोन के अंतर्गत रखा जा सकता है.

रेड जोन वाले इलाके को पूरी तरफ से लॉकडाउन रखा जाएगा जबकि ग्रीन जोन वाले इलाकों में कुछ ढील दी जा सकती है. ग्रीन जोन वाले जिलों के सरकारी दफ्तरों में पहले की तरह काम शुरू करने की व्यवस्था हो सकती है. इन इलाकों में बाहरी के आने पर रोक लगाई जा सकती है लेकिन आतंरिक बाज़ार खोले जा सकते हैं. ग्रीन जोन और येलो जोन में पूरी सतर्कता के साथ हवाई यात्रा संबंधी छूट दी जा सकती है. इन इलाकों में कृषि संबंधी कार्य शुरू हो सकते हैं. यात्रियों की क्षमता सिमित रखते हुए पब्लिक ट्रांसपोर्ट शुरू किये जा सकते हैं.

14 अप्रैल के बाद स्कूल और कॉलेज मॉल और सिनेमाहॉल तो बंद ही रहेंगे लेकिन छोटे छोटे व्यापारिक प्रतिष्ठानों को खोलने की छूट दी जा सकती है. हालाँकि ये बातें अभी मीडिया पर सूत्रों के हवाले से आ रही है. इस पर क्या फैसला होता है वो तो पीएम मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन के बाद ही पता चल सकेगा. अगर ऐसा होता है तो इस सम्बन्ध में गाइड लाइन जारी की जा सकती है.