श’राब की दुकाने खुलने के बाद देश भर में मची अफरा तफरी, कर्नाटक में इतने करोड़ की शराब बिक गई आज

2985

लॉकडाउन के तीसरे चरण में आज से देशभर में शराब दुकाने खुल गई. शराब दुकाने खुलते ही जो नज़ारा दिखा उसे देख सबके होश उड़ गए. क्या जवान क्या बूढ़े, क्या अमीर और क्या गरीब सब एक लाइन में खड़े दिखे मानों उन्हें अमृत मिलने वाला हो आज. शराब की चाहत ने कोरोना के डर को ख़त्म कर दिया, सोशल डिस्टेंसिंग के फरमान को भुला दिया. लक्ष्य था तो सिर्फ इतना कि चाहे जैसे भी हो शराब मिल जाए. एक बोल्तल के लिए लग चार लाठियां खाने को भी आज तैयार थे. कोई थैला ले कर आया तो कोई बोरा ले कर आया था. कोई एक बोतल से संतुष्ट नज़र आया तो कोई कई पेटियां खरीद लेना चाहता था. सोशल मीडिया पर शराब दुकान के बाहर की तस्वीरें वायरल हो गई. दिल्ली में तो हालत इतने बिगड़ गए कि कई इलाकों में लाठी चार्ज करना पड़ा और दुकानों को बंद करना पड़.

कई राज्य सरकारें लॉकडाउन के बावजूद शराब दुकानें खोलने की मांग कर रही थी. दूकान खुलने के बाद जो हालत दिखे उसके बाद ये अंदाजा हो गया कि राज्य सरकारें ये मांग क्यों कर रही थी. कई राज्यों में शराब से 20 से 30 प्रतिशत का राजस्व प्राप्त होता है. आज तक की रिपोर्ट के मुताबिक़ आज अकेले कर्नाटक ने 8 लाख लीटर शराब बिक गया. करीब 45 करोड़ रुपये के शराब की बिक्री आज अकेले कर्नाटक में हुई. दिल्ली से लेकर उत्तर प्रदेश तक जिस तरह से लम्बी लाइन दिखी उससे अंदाजा लगाया जा सकता है है कि राज्य आज मालामाल हो गए.

दिल्ली के हालात देख कर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने चेतावनी दी कि अगर लोगों का ऐसा ही बर्ताव रहा तो जो छूट दो गई है उसे वापस ले लिया जाएगा.