लिपुलेख विवाद पर चीन ने नेपाल को दिया जोरदार झटका, कहा लिपुलेख मामला…

3998

भारत और नेपाल के बीच तना’वपूर्ण स्थिति बन गयी है. दरअसल हुआ यह कि भारत की तरफ से सड़क का नि’र्माण किया जा रहा है जो लिंक रोड घियाबागढ़ से निकल कर लिपुलेख पास, कैलाश-मानसरोवर के प्रवेश द्वार पर समा’प्त होगा. जिस पर नेपाल ने आप’त्ति जाहिर करते हुए कहा है कि भारत की ओर से नेपाल के क्षेत्र से होकर लिपुलेख दर्रे तक लिंक रोड का निर्मा’ण दु’र्भाग्यपूर्ण है

जिस पर विवा’द एक बार फिर तेज़ हो गया है. और नेपाल अब इस मस’ले पर चीन से बात करने की लगातार कोशिशे कर रहा है. दरअसल सोमवार को नेपाल ने लिपुलेख, कालापानी और लिम्पियाधु भारतीय क्षेत्र को अपने न’क़्शे में शामिल कर लिया है. और कहा कि नेपाल अपने हि’स्से की जमीन को किसी भी हा’लत में नहीं छोड़ेगा.

वहीं चीन के विदेश मंत्री ने कहा कि कालापानी का माम’ला भारत और चीन के बीच का मा’मला है. जिस पर दोनों देश बात चीत करके सुल’झा लेंगे. इस पर किसी भी तरीके की एक तरफ़ा कार्य’वाई करने की जरूरत नहीं पड़ेगी. दरअसल लिपुलेख काला’पानी के पास ही है. जिसकी वजह से नेपाल भारत पर द’वाब डालने के लिए चीन से वा’र्ता कर रहा है. हालाँकि अभी तक नेपाल को इस माम’ले में कोई का’मयाबी हां’सिल नहीं हुई है. वही चीन ने भी इस माम’ले पर अपने हाथ खड़े कर दिए है. और कहा कि लिपुलेख का म’सला भारत और नेपाल का है.

जाहिर है सड़क निर्मा’ण को लेकर चल रहा सी’मा वि’वाद काफी ज्यादा बड़ा है जहाँ एक तरफ नेपाल ने भारत की सी’मा क्षेत्र को अपने न’क़्शे में शा’मिल कर लिया है. वही भारत की तरफ से इस मस’ले को शांतिपू’र्ण तरीके से ह’ल करने की कोशिश की जा रही है.