कभी राजनीति के बड़े सितारे थे ये नेता लेकिन अब नही मिला चुनाव लड़ने का मौका!

346

लोकसभा चुनाव होने वाले हैं, तैयारियां बड़ी जोर शोर से चल रही हैं, उत्साह हैं. नेता अपने अपने क्षेत्र में डेरा डाले हुए हैं. हाथ जोड़कर वोट मांगते दिखाई दे रहे हैं लेकिन कुछ नेता ऐसे हैं जो कुछ समय पहले तक सितारे थे, बड़े राजनेता थे, मंत्री थे उनमें से कुछको तो इस बार टिकट ही नही मिल पाया.और कुछ ने लड़ने से इंकार कर दिया . कभी थे बुलंद सितारे पर इस लोकसभा चुनाव में नहीं दिखेंगे BJP के ये दिग्‍गज नेता….


लगभग ये बात सभी जानते हैं कि उम्र के इस पड़ाव में लाल कृष्ण अडवानी के लिए राजनीति करना कितना मुश्किल हो सकता है. इस बार भारतीय जनता पार्टी ने उनसे बात कर उनसे चुनाव ना लड़ने की अपील की और वे मान भी गये. इसी लिस्ट में मुरली मनोहर जोशी भी शामिल है लेकिन कहा जा रहा है कि टिकट ना मिलने से जोशी नाराज है. हालाँकि अभी तक उनका कोई बयान सामने नही आया है.
केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली भी इस बार लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे. 2014 के चुनाव में जेटली हार गए थे और पार्टी ने उन्‍हें राज्‍यसभा सांसद बनाया था. इस बार वे लोकसभा चुनाव में नहीं उतर रहे हैं.
शाहनवाज हुसैन : भाजपा ने शाहनवाज हुसैन को भी टिकट नहीं दिया है। पिछले चुनाव में वह भागलपुर लोकसभा सीट से हार गए थे। हुसैन भाजपा के दिग्गज नेताओं में शुमार हैं. 999 में किशनगंज से जीते शाहनवाज को पूर्व की एनडीए सरकार ने राज्य मंत्री बनाया था


हुकुमदेव नारायण : भाजपा के वरिष्ठ नेता हुकुमदेव नारायण (79) मधुबनी लोकसभा सीट से सांसद हैं। इस बार वह मधुबनी से चुनाव नहीं लड़ रहे हैं. हुकुमदेव नारायण संसद में बड़े मुद्दों को हलके तरीके से उठाने के लिए जाने जाते हैं.
सुषमा स्वराज : मौजूदा विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इस बार लोकसभा चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है. उन्होंने खराब स्वास्थ्य का हवाला देते हुए पार्टी से चुनाव ना लड़ने की बात कही थी. वह 2009 में संसद में विपक्ष की नेता और 1998 में दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री रह चुकी हैं। सुषमा मध्य प्रदेश के विदिशा लोकसभा क्षेत्र से सांसद हैं. यह सीट पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सीट होने महत्वपूर्ण है.
उमा भारती : केन्द्रीय मंत्री उमा भारती ने पार्टी को पात्र लिखकर चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है. उमा ने 16 मार्च 2019 को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को पत्र लिखकर अपने फैसले से अवगत करा दिया था


परेश रावल : अहमदाबाद से सांसद परेश रावल इस बार चुनावी मैदान में नही है. खुद परेश रावल ने चुनाव लड़ने से इंकार कर दिया है लेकिन उन्होंने कहा कि पार्टी के लिए काम करते रहेंगे 2014 का आम चुनाव अहमदाबाद पूर्व लोकसभा क्षेत्र से लड़ा था और 3.25 लाख से अधिक मतों से जीत हासिल की थी,
कलराज मिश्र : देवरिया सांसद कलराज मिश्रा मोदी कैबिनेट में लघु, सूक्ष्म और मध्यम उद्योग मंत्री थे लेकिन साल 2017 में उन्होंने इस्तीफा दे दिया हालाँकि उन्होंने कहा था कि पार्टी के लिए काम करते रहेंगे… कलराज मिश्र इस बार लोकसभा चुनाव नही लड़ रहे हैं.


वैसे बीजेपी ने इस बार टिकट बहुत सोच समझ कर दिया है कई मौजूदा सांसदों का टिकट काट दिया गया है. जानकारी के मुताबिक़ जिन सांसदों का रिपोर्ट कार्ड अच्छा नही था उन्हें इस बार टिकट नही मिला है. हमने आपको बताया कि बीजेपी के किन दिग्गज नेताओं को टिकट नही मिला या वे चुनाव नही लड़ रहे हैं.. लेकिन जब आपके क्षेत्र में वोटिंग हो तो आप वोट डालने जरूर जाएगा