वामपंथी वेबसाइट द क्विंट के साजिशों की खुली पोल, अमेरिका की तरह भारत में भी लोगों को सड़क पर उतारने की कोशिश

आज दिन भर ट्विटर पर देशद्रोही क्विंट ट्रेंड कर रहा था. वामपंथी वेबसाइट पर लोगों का गुस्सा भड़क उठा और उसपर कारवाई की मांग होने लगी. इसकी वजह थी कि द क्विंट ने अमेरिका में हो रहे दं’गों का सहारा लेते हुए भारत के लोगों को सड़क पर उतरने को उकसाया. साथ ही द क्विंट ने ऐसे कई बैनर भी बनवाये हैं जिनमे अमेरिका और भारत की कुछ घटनाओं की तुलना की गई और लोगों को ये कहते हुए उकसाया गया कि भारत के लोग अमेरिका के लोगों की तरह सड़क पर क्यों नहीं उतरते? उन्हें किस बात का इंतज़ार है?

आपको बताते हैं कि पूरा मामला क्या है. भाकपा नेता कपिल मिश्रा ने एक स्क्रीनशॉट ट्वीट किया. ये स्क्रीनशॉट द क्विंट की पोडकास्ट प्रोड्यूसर शोरबोरी पुरकायस्था के एक सन्देश का था. इस सन्देश में शोरबोरी पुरकायस्था ने लोगों से अपील की है कि जिस तरह से अमेरिका में जॉर्ज फ्लोएड की मौ’त की तर्ज पर विरोध प्रदर्शन किये उस तरह से व्यापक विरोध प्रदर्शन भारतीय लोग क्यों नहीं करते. लोगों को उकसाते हुए ये भी लिखा गया है कि घर घर न्याय पहुँचाने के लिए लोगों को किस चीज का इंतज़ार है. बताया जा रहा है कि ये मैसेज कई लोगों को ईमेल के जरिये क्विंट की तरफ से भेजा गया.

ये सारा प्रोपगैंडा उसी तरह का है जिस तरह से CAA के खिलाफ मुसलमानों को भड़का कर सड़क पर उतारा गया और देश के कई शहरों को हिं’सा की आग में जलाया गया. अब अमेरिका में हो रहे दं’गों का सहारा ले कर एक बार फिर वामपंथी संगठन देश को हिं’सा की आग में झोंकने की कोशिश में जुट गए हैं. क्विंट ने कई बैनर भी बनवाये हैं जो धड़ल्ले से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. इन बैनर में अमेरिका और भारत के कई घटनाओं की तुलना की गई. इस तुलना का एक ही मकसद है कि किसी तरह से भारत के लोगों को सड़कों पर उतारा जाए और हिं’सा भड़’काई जाए. कई बैनर आप यहाँ देख सकते हैं

सोशल मीडिया पर क्विंट की ये करतूत तेजी से वायरल हुई और देशद्रोही क्विंट ट्रेंड करने लगा. लोग दिल्ली पुलिस, यूपी पुलिस और गृह मंत्रालय से क्विंट पर कारवाई की मांग कर रहे है.

Related Articles