वामपंथी संगठनों ने इस शख्स पर लगाया JNU में दं’गा भड़’काने का सं’गीन आ’रोप

901

देश की राजधानी दिल्ली एक बार फिर हिं’सा की च’पेट में जल’ती हुई नज़र आ रही है. दिल्ली में हर जगह आये दिन बवा’ल होता रहता है. लेकिन पिछले कुछ दिनों से दिल्ली स्थित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) हिं’सा का घर बना हुआ है. बता दें कि कल रात यानि रविवार को कुछ संदि’ग्ध नका’बपोश लोगो ने जेएनयू में घुस कर वहां के छात्रों पर अचानक से हम’ला बोल दिया और वहां पर मौजूद जेएनयू की छात्रसंघ अध्यक्ष को भी बुरी तरह से घा’यल कर दिया और उनके सिर पर चो’ट आई है जिसकी वजह से उन्हे ट्रॉमा सेन्टर में भर्ती करवाया गया है. इस घटना को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियाँ कड़ी निं’दा कर रही हैं  जानकारी के मुताबिक नका’ब में आए इन हम’लावरों ने हॉस्टल में घुस’कर छात्रों पर हम’ला किया। अब इस हिं”सा को लेकर जेएनयू छात्र संघ का एक बड़ा बयान सामने आया है.

जेएनयू छात्र संघ ने अपने बयान में विश्वविद्यालय के वीसी पर सीधा निशा’ना साधा है और छात्र संघ ने ये भी कहा है कि  ‘जेएनयूएसयू बयान देना चाहता है, उन्होने आगे अपने बयान में  कहा कि विश्वविद्यालय के वीसी एम जगदीश कुमार एक गुं’डे की तरह व्यवहार कर रहे हैं यहाँ के छात्रों के साथ. इस चीज़ की हम कड़ी निं’दा करते हैं. जेएनयू के छात्रों ने ये तक कह दिया कि जेएनयू के वीसी ये देखना चाहते हैं कि यहाँ पर रहने वाले छात्र, शिक्षक, कर्मचारी और पूरा JNU कैंपस बाहर से आए अप’राधियों द्वारा हिं’सा का सामना करें। जिन्होंने लोहे की रॉड, पत्थ’र और ला’ठी के साथ-साथ ट्यूबलाईट का इस्तेमाल करके हमारे छात्रों पर हम’ला किया। जेएनयूएसयू की अध्यक्ष आइशी घोष एम्स के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती हैं, और वहां पर मौजूद छात्रों ने सीधे तौर पर एबीवीपी के उपर हम’ला करने का आ’रोप लगाया है और ये बताया कि आइशी के सिर पर लोहे की ऱॉड से मा’रा गया है.

छात्र संघ ने अपने बयान में आगे कहा, ‘आज जो हिं’सा हुई है,  वह वीसी और उनके साथियों की हताशा का परिणाम है. लेकिन ये घट’ना दिल्ली पु’लिस के लिए भी शर्म की बात है। जिन्होंने बाहर से आए एबीवीपी के गुं’डों को सुरक्षा दी। प्रशासन हमारे विरोध को कई दिनों से ख’त्म करने में अस’मर्थ रहा है। 4 जनवरी के बाद से, एबीवीपी के लोगों को वीसी के अनुयायी की तरह विश्वविद्यालय में आकर छात्रों को पी’टने के लिए निर्देशित किया जा रहा था।’

बता दें जेएनयू छात्र संघ ने अपना ये बयान सोमवार को दिया है। छात्र संघ की अध्यक्ष भी घा’यलों में शामिल हैं और एम्स के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती हैं. जेएनयू हिं’सा को लेकर एएमयू और जादवपुर विश्वविद्यालय के छात्रों ने भी वि’रोध मार्च निकाला है। दिल्ली पु’लिस का कहना है कि वह छात्रों के बयान के आधार पर आगे की का’र्रवाई करेगी। वहीं विपक्षी पार्टियां घट’ना को लेकर लगातार सरकार पर तंज कस रही हैं.