PM मोदी की इन पंक्तियों को अब सुनें स्वर कोकिला लता मंगेशकर की आवाज में

543

“सौगंध मुझे इस मिटटी की मैं देश नहीं झुकने दूंगा, मैं देश नहीं मिटने दूंगा, मैं देश नहीं रुकने दूंगा, मैं देश नहीं झुकने दूंगा”

कहने की जरूरत नहीं ये पंक्तियाँ किसकी हैं.. इतना बोलना होता है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का 2014 का वो क्षण याद आ जाता है जब उन्होंने समस्त देशवासियों के समक्ष गर्व से भारत माँ को यह वचन दिया था

हाल ही में IAF की तरफ से बालाकोट में हुई एयर स्ट्राइक के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने एक संबोधन के दौरान पुलवामा हमले में शहीद हुए हमारे वीर जवानों को नमन करते हुए एक बार फिर इन्ही पंक्तियों के साथ संपूर्ण  देश को आश्वासन दिया था कि देश सुरक्षित हाथों में है

प्रधानमंत्री मोदी की इन पंक्तियों को लयबद्ध किया है स्वर कोकिला लता मंगेशकर जी ने

सेना के जवानों को समर्पित करते हुए लता मंगेशकर जी ने इन पंक्तियों को गीत में पिरो दिया है जिसे भारतीय जनता पार्टी इस बार के चुनावी कैंपेन का गीत बनाएगी

स्वर कोकिला लता मंगेशकर जी ने खुद इस गीत को अपने ट्विटर अकाउंट के जरिये शेयर किया है.. चलिए आपको सुनाते हैं यह गीत

अपने इस गाने को रिकॉर्ड करने से पहले लता मंगेशकर जी ने एक सन्देश भी रिकॉर्ड किया है जिसमें कहा है “

नमस्कार, कुछ दिनों पहले मैं भारत के प्रधानमंत्री माननीय नरेन्द्र भाई मोदी जी का भाषण सुन रही थी, उन्होंने एक कविता की कुछ पंक्तियाँ कहीं थी जो मुझे वास्तव में हर भारतीय के मन की बात लगी और वो पंक्तियाँ मेरे भी मन को छू गई.. उसे मैंने रिकॉर्ड किया है.. और आज हमारे देश के वीर जवानों को हमरे देश की जनता को समर्पित करती हूँ.. जय हिन्द”

इन शब्दों के साथ फिर उन्होंने गीत गाना शुरू किया

स्वर कोकिला लता मंगेशकर जी की आवाज के बारे में कहा जाता है कि उनके गले में स्वयं सरस्वती का वास है.. उनकी आवाज में यह गीत हर देशवासी के मन में देशभक्ति का भाव जागृत करने की शक्ति रखता है..

प्रधानमंत्री मोदी की यह पंक्तियाँ लम्बे वक़्त तक हर भारतवासी की जबान पर चढ़ गई थी.. जब जब pm मोदी यह बात कहते थे तालियों की गडगडाहट पूरे देश में गूंजने लगती थी जो परिचय देती है है इस बात का के देश के सम्मान, सुरक्षा और संप्रभुता बरकरार रखने में हम उनके साथ हैं