लॉकडाउन में छूट का असर? पिछले 24 घंटों में बढ़े सबसे ज्यादा मरीज टूटे सारे रिकॉर्ड

देश में कोरोना कहर अब बहुत तेजी से बढ़ता जा रहा है. केंद्र सरकार एक के बाद एक बड़े कदम उठाती जा रही है इसके बावजूद भी हर दिन हालात बिगड़ते जा रहे हैं. दुनियाभर के देश इस बीमारी की दवा बनाने में लगे हुए हैं लेकिन कहीं से भी राहतभरी खबर नहीं आ रही है. चीन के वुहान शहर से फैले इस वायरस ने दुनियाभर में हाहाकार मचा रखा है. अमेरिका में अब तक 10 लाख से ज्यादा मरीज हो चुके हैं.

जानकारी के लिए बता दें भारत के बिगड़ते हालात को देखते हुए ही देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन को आगे बढ़ाने का फैसला ही लिया क्योंकि सरकार के पास अभी कोई और चारा नहीं है. लॉकडाउन 3 में सरकार ने लॉकडाउन बढ़ाने के साथ कुछ रियायत भी दी लेकिन इस छूट के बीच मरीजों की संख्या में जबरदस्त और रिकॉर्ड तोड़ इजाफा हुआ है. पिछले 24 घंटों में भारत में अब तक सबसे ज्यादा लोगों की जान गयी हैं और सबसे ज्यादा मरीज बढे हैं. क्या ये सब लॉकडाउन में मिली छूट के कारण हुआ है?

दरअसल लॉकडाउन 3 में देश के कई राज्यों में शराब की बिक्री को जारी करने के आदेश दे दिए थे. सरकार के इस फैसले के बाद हर तरफ शराब के ठेके पर भारी संख्या में भीड़ एकत्रित हो गयी और लोगों ने जमकर सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियाँ उड़ाई. जहाँ एक ओर सरकार ने रियायत देने का फैसला किया वहीं दूसरी ओर पिछले 24 घंटे में 3900 नए मामलों की पुष्टि की गयी है जोकि एक बड़ा आंकड़ा है. अगर इसी तरह हर दिन मरीज बढे तो सरकार को बड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है.

गौरतलब है कि भारत में अब मरीजों की संख्या 46433 हो गयी है. जिसमें 32134 एक्टिव केस हैं. भारत में अब तक 1500 से ज्यादा लोग इस महामारी के चलते जान दे चुके हैं. कोरोना के विशेषज्ञों ने कहा है कि लॉकडाउन में छूट देने के चलते महामारी के मामलों में बढ़ोत्तरी का भी एक कारण हो सकता है. उन्होंने कहा कि अगर आंकड़ों पर ध्यान दें तो कोरोना वायरस के कारण लागू लॉकडाउन में मिलने वाली रियायत के बाद कुछ देश जो सबसे ज्यादा आबादी वाले थे वहां के लोग सड़कों पर घूमने निकल पड़े और अंजाम ये हुआ कि भारत समेत अन्य देशों में मरीजों की संख्या रिकॉर्ड तोड़ बढ़ी.