नेपाल-भारत बॉर्डर पर हुई फा-यरिंग के दौरान का चश्मदीद गवाह आया सामने, किये चौं-काने वाले खुला-से

875

भारत-नेपाल बॉर्डर पर पुलि-स द्वारा कक गयी श-र्मनाक ह-रक-त को लेकर अब एक के बाद एक बड़े खुला-से हो रहे हैं. चीन की सह पर नेपाल भारत को लगातार आँख दिखा रहा है. जबकि भारत सरकार ने हमेशा नेपाल का साथ दिया. इसके बावजूद भी नेपाल ने भारत बॉर्डर पर अं-धाधुं-ध गो-लियां बरसाई जिसमें एक व्यक्ति की जा-न चली गयी.

जानकारी के लिए बता दें नेपाल ने इस मामले के बाद कहा कि भारत के लोग उनकी सीमा के अंदर घु-से हुए थे जिसके बाद उन्होंने फा-यरिं-ग शुरू की. जिसके बाद अब वहां मौजूद एक चश्मदीद गवाह लगन किशोर ने बड़ा खुला-सा किया है. लगन किशोर को नेपाल पुलि-स ने अपनी हिरा-सत में ले लिया था जिसके बाद जब नेपाल पर दवाब बढ़ा तो उसे रिहा कर दिया. रिहा होने के बाद लगन किशोर ने नेपाल पुलि-स की हर-कत को बताया.

आपको भी जानकर हैरा-नी होगी नेपाल ने जरा सी बात पर अपनी बं-दू-क का मुंह भारतीय नागरिकों की तरफ कर दिया और अं-धाधुं-ध फा-यरिं-ग शुरू कर दी, जिसमें एक शख्स की जा-न चली गयी. लगन किशोर ने कहा कि नेपाल पुलि-स ने बिहार की सीमा में अंदर घुसकर उठाया और संग्रामपुर ले जाकर उनसे ये कहलवाने की कोशिश कि उसे नेपाल सीमा से उठाया गया है. रिहा होने के बाद लगन से ये सारी बातें बताई हैं.

गौरतलब है कि लगन ने बताया कि उसके बेटे की शादी नेपाल में हुई है. नेपाल से उनकी बहू और समधन 12 जून को परिवार के साथ सीतामढ़ी में अपने परिवार वालों से मिलने आई थी. जिसके बाद बॉर्डर पर नेपाल पुलि-स ने उन्हें रोक लिया. इस दौरान लगन का बेटा भी वहां मौजूद था और पुलि-स उसे पी-ट-ने लगी, जब लगन वहां पहुंचा और उसने पुलि-स से वजह पूछी तो उन्हें भी नेपाल पुलि-स की ब-द-सलू-की का सामना करना पड़ा. जिसके बाद नेपाल पुलि-स ने 10 जवानों को मौके पर बुलाया और उन्होंने फा-यरिं-ग शुरू कर दी. जिसमें विकेश कुमार नाम के शख्स की जा-न च-ली गयी.