LAC पर चीन ने जमा किये तोप और भारी ह’थिया’र, भारत ने भी अपने रिजर्व डिविजन को किया तैनात

17359

लद्दाख में LAC पर तनाव कम होने कम होने का नाम नहीं ले रहा. कई स्तर की बातचीत के बाद भी दोनों सेनायें आमने सामने डटी हैं और तनाव बरक़रार है. दोनों देशों में कमांडिंग ऑफिसर और ब्रिगेड स्तर के अधिकारियों के बीच बात हो चुकी है. लेकिन चीन टस से मस होने को तैयार नहीं. जल्द ही मेजर स्तर की बातचीत होने वाली है लेकिन ऐसा लगता है चीन जानबूझ कर बीतचीत में उलझा रहा है क्योंकि सैटेलाईट से प्राप्त तस्वीरें चीन के खतरनाक इरादे जाहिर कर रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार चीनी सेना ने उस पूरे इलाके में तोप, अर्टिलरी और आर्मर्ड यूनिट तैनात कर दी है और बैकअप के तौर पर और सैनिक जमा कर रहा है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक़ पूर्वी लद्दाख में चीनी सेना के क्लास ए व्हीकल्स देखे जा सकते हैं. यह इलाका एलएसी से महज 25 किलोमीटर दूर है. चीन ने अपने भारी हथियार भी यहीं जमा कर रखे हैं, ताकि जरूरत पड़ने पर जल्द से जल्द इन्हें LAC पर पहुँचाया जा सके. चीन के 5 हजार फ़ौज के जवाब में भारत ने भी अपने सैनिकों की बराबरी तैनाती कर दी है. लद्दाख सेक्टर के कई उंचाई वाले इलाकों में भारतीय सैनिकों की तैनाती की गई है और भारत की तरफ से भी आपात स्थिति से निपटने के लिए भारी हथियार भेजे जा रहे हैं. जिन जिन इलाकों में चीनी सैनिक घुसे हैं वहां भारतीय सैनिक दीवार बन कर खड़े हो गए हैं और चीनी सैनकों को किसी भी दिशा में मूव करने से रोका जा रहा है.

LAC पर चीनी सैनिकों के टेंट की फ़ाइल तस्वीर, हर बार ऐसे ही टेंट लगता है चीन

भारत ने अपने रिजर्व डिविजन को भी लद्दाख में तैनात कर दिया है. इस डिविजन को उंचाई और पहाड़ी इलाकों में जंग लड़ने में महारत हासिल है. भारत ने एयरक्राफ्ट और नए बनाये गए सड़कों के जरिये अपनी फ़ौज को जल्द से जल्द लद्दाख में भेजा है. चीन को अंदाजा नहीं था कि भारत इतनी जल्दी अपने सैनिकों की मूवमेंट कर देगा. लेकिन बीते 6 सालों में जिस तरह से भारत ने LAC पर सड़कों का जाल बिछाया है उसने चीन को बौखला दिया है. चीन चाहता है भारत LAC पर निर्माण कार्य बंद करे लेकिन भारत ने भी साफ़ कर दिया है कि भारतीय इलाकों में चल रहे किसी भी निर्माण कार्य को नहीं रोका जाएगा.