कुमार विश्वास ने मुंहतोड़ जवाब दे कर अरविन्द केजरीवाल की बोलती बंद कर दी

2073

दिल्ली विधानसभा चुनाव में वोटिंग से चंद दिन पहले अब पाकिस्तान की डायरेक्ट इंट्री हो गई. पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने लोगों से अपील की कि दिल्ली चुनाव में मोदी और भाजपा को हराना है. उन्होंने अपने ट्वीट में कश्मीर, CAA और भारत की इकॉनोमी का भी जिक्र किया.

फवाद चौधरी के इस ट्वीट पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने जवाब दिया और कहा कि नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री है और चुनाव भारत का आन्तरिक मामला है. पाकिस्तान देश में दरार डालने की कोशिश ना करे. आम तौर पर पीएम मोदी के लिए तल्ख़ शब्दों का प्रयोग करने वाले अरविन्द केजरीवाल की भाषा इस ट्वीट में काफी नम्र थी. जिससे कई लोगों को आश्चर्य हुआ.

केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘नरेंद्र मोदी जी भारत के प्रधानमंत्री है. मेरे भी प्रधानमंत्री है. दिल्ली का चुनाव भारत का आंतरिक मसला है और हमें आतंकवाद के सबसे बड़े प्रायोजकों का हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं. पाकिस्तान जितनी कोशिश कर ले, इस देश की एकता पर प्रहार नहीं कर सकता.’

केजरीवाल के ट्वीट में पीएम मोदी के लिए ऐसे शब्द सुनकर सब भौचक रह गए. होना स्वाभाविक भी था. यही केजरीवाल थे जो कभी पीएम के लिए मनोरोगी और साइको जैसे शब्दों का इस्तेमाल करते थे. यही केजरीवाल सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक का सबूत मांग कर अपनी ही सरकार और सेना की पूरी दुनिया में बेइज्जती करते थे. लेकिन उनके स्वर बिलकुल बदल गए. शायद केजरीवाल को अहसास हो गया कि पाकिस्तान का इस तरह से खुल कर मोदी विरोध में आना और चुनाव हारने की अपील करना उन्हें भारी पड़ सकता है. इसलिए चुनावी माहौल में केजरीवाल के सुर बदल गए.

मुख्यमंत्री केजरीवाल की इस हरकत को उनके पुराने साथी कुमार विश्वास भांप गए. उन्होंने तंज कसते हुए कहा, ‘चुनाव क्या न कराए. जब इसी PM को “कायर-मनोरोगी” कह रह थे तब यह भेड़िया-धर्मी विनम्रता स्वराज में डाल रखी थी? जब सेना के शौर्य के सबूत माँग कर इसी पाकिस्तान में अपनी जयजयकार करवा रहे थे,सेना के शौर्य को मेरे प्रणाम वाले वीडियो पर अमानती-गुंडा छोड़ रहे थे,तब PM क्या 2G गुप्ता थे?’

कुमार विश्वास का ये ट्वीट देखते ही देखते वायरल हो गया.