जानिए,क्या वाकई चौकीदार ही चोर है ?

366

राहुल गाँधी और उनकी पार्टी कांग्रेस आजकल मान मर्यादा भूलकर देश के प्रधानमन्त्री का भी अपमान करने में जुटी है. हर रोज कांग्रेस की तरफ से पीएम मोदी को चोर कहा जा रहा है. कांग्रेस के लोगो ने बाकायदा चौकीदार चोर है नाम से कैम्पेन भी चलाये जा रहे है.

खैर,आज सुबह ही हमे याद आया कि क्यो ना देश के फेमस सेवको यानी राजनेताओं की लिस्ट तैयार की जाए और उनके पिछले कुछ सालो में इक्कठी की गई कुल संपत्ति से आपको रूबरू कराया जाए। ताकि देश के चोरों का पता आप खुद लगा सके।।
हां तो चलिये शुरू करते है।

शुरुआत कांग्रेस अध्य्क्ष राहुल गांधी से ही करते है।
राहुल गांधी की बात करें तो राहुल की संपत्ति 2004 में 55 लाख रुपए थी जोकि 2009 में 2 करोड़ 32 lakh रुपए हो गई। 2014 आते आते इस आय में कई गुणा तेजी आई और 2014 चुनाव में दायर हलफनामे की माने तो राहुल के पास 9.40 करोड़ रुपए की संपत्ति हो गई। हालांकि,आय में बढ़ोतरी का कारण उन्होंने जमीन के बढ़ते रेट बताए थे। ख़ैर सच क्या था ये तो वो ही जाने।

सोनिया गाँधी


10 वर्षों में सोनिया की संपत्ति में 8 करोड़ रुपए का इजाफा हुआ है। 2004 में सोनिया गांधी के पास कुल 84 लाख रुपए था, जैसा कि उन्होंने अपने चुनावी शपथ पत्र में दिया था। लेकिन 2009 में सोनिया की संपत्ति बढ़कर 1.37 करोड़ रुपए हो गई।2014 के लोकसभा चुनाव में सोनिया गांधी के पास 9 करोड़ 28 लाख रुपए की संपत्ति थी। ऐसे में पांच साल के भीतर सोनिया की संपत्ति में 8 करोड़ रुपए की बढ़ोत्तरी हो गई। सोनिया गांधी के पास कुल संपत्ति पर नजर डालें तो उनके पास 39 लाख रुपए के गहने हैं।अब इतने कम समय मे उनकी आय में इतनी बढ़ोतरी कैसे हो गई ये वो ही बेहतर ढंग से बता सकती है।

मायावती

यूपी के गरीब दलितों की मसीहा होने का दावा करने वाली मायावती की आय भी लगातार बढ़ी है। 2004 के लोकसभा इलेक्शन में उनकी कुल संपत्ति 11 करोड़ थी । आम आदमी से ज्यादा हाथियों के निर्माण कार्यो पर ज्यादा खर्च करने वाली मायावती ने 2007 के विधान परिषद में हलफनामा दायर करते हुए अपनी संपत्ति 87 करोड़ बताई थी। 2012 में राज्यसभा चुनाव के वक्त तक उनकी संपत्ति 111 करोड़ तक जा पहुँची ।

मुलायम सिंह यादव

2004 के लोकसभा इलेक्शन में मुलायम सिंह की कुल संपत्ति 1 करोड़ 15 लाख थी। फिर 2009 के लोकसभा चुनाव तक उनकी आय में जबरदस्त तेजी और वो 2करोड़ 23 लाख तक पहुँच गई। 2014 के इलेक्शन तक उसमे कई प्रतिशत की व्रद्धि दर्ज हुई और उनकी कुल संपत्ति 15 करोड़ 76 लाख तक पहुँच गई।

नरेंद्र मोदी

2012 में विधानसभा चुनाव के वक्त मोदी साहब की इनकम 1 करोड़ 33 लाख थी जो 2014 के लोकसभा इलेक्शन तक 1 करोड़ 51 लाख तक पहुँच गई। मौजूदा समय मे उनके पास करीब 2 करोड़ 28 लाख की संपत्ति है. चार साल के बाद मोदी की संपत्ति में करीब 75 लाख रुपये की बढ़ोतरी हुई है.प्रधानमंत्री होने के बावजूद पीएम मोदी के पास अपनी खुद की कोई कार नही है।


कौन देश का चोर है और कौन चौकीदार,ये हम आपको नही बताएंगे बस इन आंकड़ों को जरा गौर से दोबारा देख और पढ़ लीजिएगा शायद तब आप किसी नतीजे पर पहुँच सके। बाकि और ज्यादा जानकारी के लिए आप इस विडियो को देख सकते है

https://youtu.be/DiTnyH-1i4A