बैंक के डूब जाने या दिवालिया हो जाने आपका पैसा मिलेगा? पढ़िए कुछ जरूरी जानकारी

455

पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक के ग्राहक इस वक्त परेशान है. बैंक में अनियमितता के चलते RBI ने इस बैंक पर कुछ पाबंदिया लगाईं. सबसे बड़ी बात.. जिसको लेकर ग्राहक परेशान है कि उन्हें छ महीने में सिर्फ 10 हजार रूपये निकालने की छूट दी गयी है. इसके साथ बैंक पर भी कई तरह की पाबंदी लगाईं गयी है. इसी बीच सवाल उठता है कि किसी भी बैंक के डूब जाने या दिवालिया हो जाने पर क्या आपको आपका पैसा वापस मिलेगा या नही! ये जानना आपके भी जरूरी है.  इससे जुड़े कुछ नियम है आइये हम आपको इसके बारे में जानते हैं.

सबसे पहली बात कि आपके बैंक अकाउंट में कितनी भी रकम जमा हो, गारंटी सिर्फ 1 लाख रुपये तक की होती है. इसमें मूलधन और ब्याज, दोनों शामिल हैं.   किसी भी बैंक में जमा पैसों पर सिक्यॉरिटी डिपॉजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कारपोरेशन की तरफ से उपलब्ध कराई जाती है. बैंक इसके लिए  प्रीमियम भरते हैं. इतना ही नही अगर आपका एक से अधिक अकाउंट दिवालिया हो चुके बैंक में हैं तो भी आपको एक लाख रूपये मिलने की ही गारंटी है..और हा ये रकम कब मिलेगी, इसे लेकर कोई समय-सीमा नहीं है.

अगर आपको अपना पैसा सुरक्षित रखना है तो आप ये तरीके अपना सकते हैं.

सबसे पहला..

को ऑपरेटिव बैंक अक्सर अधिक ब्याज देकर लोगों को आकर्षित करते हैं. लेकिन जब अभी आपके पास ऐसा मामला सामने आये तो आप बैंक में जाकर इसके बारे में जानकारी ले कि आखिर बैंक आपको ब्याज ज्यादा क्यों दे रहा है? बैंक की websites चेक कीजिये.. मार्किट में बैंक के हालात के बारे में पता कीजिये. वे लाभ में चल रही हैं या घाटे में… अगर कोई भी शंका वाली बात आपको नजर आये तो अपना पैसा वहां से निकाल लीजिये. बेहतर होगा कि आप अपना पैसा सरकारी बैकों में ही रखें.. यहाँ आपका पैसा अन्य बैंकों से अधिक सुरक्षित होता है.

दूसरा. निवेश के दुसरे रास्ते अपनाएँ..

आपने बैंक एफडी में या किसी दूसरी जगह जो निवेश कर रखा है, उसे SIP के जरिए इक्विटी शेयर मार्केट, म्यूचुअल फंड आदि में लगाएं.. ऐसे में आपका पैसा थोड़े दिन के लिए फंस जरूर सकता है लेकिन बाद में आपके लिए फायदेमंद भी साबित हो सकता है. थोडा सा रिस्क लें

तीसरा.. एक ही बैंक में ना रखें पैसा

आपको एक सावधानी और बरतनी है कि आपको अपना पूरा पैसा एक बैंक में नही रखना चाहिए क्योंकि जब बैंक दिवालिया हो जाती है तो एक व्यक्ति के सभी अकाउंट एक ही माने जायेंगे.. ऐसे में आपके लिए सही ये होगा कि आप अपने अलग अलग अकाउंट अलग बैंक में खोलें.

 वैसे अगर आपके पास जॉइंट अकाउंट हैं तो भी बैंक के दिवालिया होने पर आपको सिर्फ दो लाख ही मिलेंगे इसके लिए भी ये जरूरी है कि जॉइंट अकाउंट में पहला नाम दुसरे व्यक्ति का होना चाहिए.

हालाँकि भारत में अभी तक ऐसी स्थिति आई नही है. कयोंकि अगर कोई बैंक जैसे परेशानी गुजर रहा होता है तो उसे दूसरे बैंकों के साथ मर्ज कर दिया जाता है. जिस बैंक के साथ विलय होता है ग्राहकों का पैसा लौटाने की जिम्मेदारी उस बैंक की हो जाती है.

अब ऐसे सवाल ये है कि सबसे सुरक्षित पैसा कहाँ रहता है. जानकारी के लिए आपको बता दे कि पोस्ट ऑफिस में आपका पैसा सबसे सुरक्षित हैं. दरअसल, सरकार पोस्ट ऑफिस की योजनाओं में जमा पैसों का इस्तेमाल अपने कामों के लिए करती है. इसलिए इस यहाँ जमा किये गये एक एक रूपये की  पूरी गारंटी दी जाती है. वहीं, बैंकों में जमा पैसे को CRR और SLR में लगाया जाता है और बाकी रकम का लोन दिया जाता है. लोन से मिलने वाले ब्याज से बैंक अपना बिजनस बढ़ाते है.

उम्मीद है अब आप समझ गये होंगे कि आपको किस बैंक पर कहाँ आपका पैसा सुरक्षित है. अगर आपको ये जानकारी पसंद आई तो शेयर करना न भूलें.