CAA का समर्थन करने पर विपक्ष ने इस राज्यपाल के खिलाफ खोला मोर्चा

669

कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्षी गठबंधन वाले यूडीएफ ने केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान के खिलाफ मोर्चा छेड़ दिया हैं.  विपक्षी दलों ने विधानसभा के अध्यक्ष को राष्ट्रपति द्वारा राज्यपाल को वापस बुलाने की मांग की हैं. इससे पहले भी केरल की सत्तारूढ़ एलडीएफ ने भी राज्यपाल को घेरा हैं. विपक्षी दल के नेता रमेश चेन्‍न‍िथला ने कोच्चि के संवाददाता से बातचीत के दौरान कहा कि राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान को वापस बुलाने की जरुरत इसलिए भी है क्यूंकि वो लगातार CAA  के खिलाफ विधानसभा में पारित प्रस्ताव पर आपत्ति जता रहे हैं.इसके अलावा ये विधानसभा के अपमान और लोगों की भावनाओं को आहत करने के बराबर हैं.

चेन्‍न‍िथला ने आगे कहा कि अगर राज्यपाल आरिफ खान को प्रस्ताव से आपत्ति हैं तो वह लिखित में बताना चाहिए. इसके साथ ही विधानसभा के कदम पर सवाल उठाना और विरोध करना गलत हैं. इसी के साथ आरिफ मोहम्मद खान ने कहा कि विधानसभा में उनके खिलाफ पेश किये गए प्रस्ताव का वो स्वागत करते हैं संविधान के अनुरूप ही वह काम कर रहे हैं.

इसी के साथ कांग्रेस के प्रस्ताव पर आरिफ खान से पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि स्वागत है. उन्होंने यहां एक कार्यक्रम में मीडिया से बातचीत में कहा हर किसी को अपनी राय रखने का हक है.  मैं राज्य का संवैधानिक प्रमुख हूं  सरकार को सलाह देना, परामर्श देना, प्रेरित करना और आगाह करना मेरा कर्तव्य है. इसके अलावा खान ने कहा कि संविधान और उच्चतम न्यायालय द्वारा की गई व्याख्या के अनुसार काम करना मेरी जिम्मेदारी है.

खान ने अपनी बात को पूरा करते हुए कहा कि सरकार के साथ  मेरा कोई टकराव नहीं है. वही उन्होंने यह भी कहा की उन्हें सूचित किए बिना CAA के खिलाफ उच्चतम न्यायालय का रुख करने का राज्य का कदम सही नहीं है.  इसी के साथ वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने कहा कि उन्होंने विधायी कामकाज के नियम 130 के तहत विधानसभा में प्रस्ताव पेश करने की अनुमति मांगने के लिए अध्यक्ष पी श्रीरामकृष्णन को नोटिस दिया है.