केरल में इंसानियत हुई शर्मसार, गर्भवती हथनी को फल में प’टाखे बाँध कर खिला दिया, त’ड़प-त’ड़प कर हुई मौ’त

20590

केरल को God’s Own Country कहा जाता है, यानी कि देवताओं का देश. लेकिन इसी केरल में मानवता को शर्मसार करने वाली वा’रदा’त सामने आई है. कुछ सिरफिरे लोगों ने एक गर्भवती हथिनी को धोखे से फल में प’टाखे बाँध कर खिला दिए. पटाखे हथिनी के मुंह में फ’ट गए और त’ड़प त’ड़प कर हथिनी और उसके गर्भ में पल रहे बच्चे की मौ’त हो गई. वन विभाग के एक अधिकारी ने ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट की. तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुई और लोगों में गुस्से की लहर दौड़ गई. लोग ऐसे जाहिल लोगों को सख्त से सख्त सजा देने की मांग कर रहे हैं.

घटना केरल के मलप्पुरम जिले की है. एक गर्भवती हथिनी भोजन की तलाश में जंगल से निकल कर गाँव में आ गई. कुछ स्थानीय लोगों ने अनानास में पटाखे भर कर उस हथिनी को खिला दिए. उस बेचारी को कहाँ पता था कि वो जिनपर भरोसा कर के फल खा रही है वो इंसान नहीं बल्कि असल में जानवर हैं. भूख से बेहाल हथिनी ने वह अनानास खा लिया और कुछ ही देर में उसके पेट के अंदर पटाखे फ’टने लगे. हथिनी के सूंड और मुंह में भी गहरे ज़’ख्म हो गए. दर्द और ज’लन से बेचैन हथिनी इधर उधर भागने लगी लेकिन इस हालात में भी उसने किसी इंसान को कोई नु’कसान नहीं पहुँचाया. वो एक तालाब में जा कर खड़ी हो गई, इस उम्मीद से की शायद तालाब का पानी उसके ज़’ख्मों और ज’लन को कुछ राहत देगा.

घटना की जानकारी जब वन विभाग को मिली तो हथिनी को रेस्क्यू करने पहुंचे. दो हाथियों की मदद से हथिनी को तालाब से निकलने की कोशिश की गई ताकि उसकी शल्य चिकित्सा की जा सके. लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी. हथिनी ने द’म तोड़ दिया. दर्द के कारण वह कुछ खा नहीं पा रही थी. उसके पेट में पल रहे बच्चे को भी कुछ नहीं मिल पा रहा था. उसने त’ड़प-त’ड़प कर द’म तोड़ दिया. इस मामले में दोषियों के खिलाफ FIR दर्ज कर ली गई है. वन्य जीव अधिनियम की धाराओं के तहत FIR दर्ज की गई है.