क्या दिल्ली की सत्ता को बार बार पाने के लिए खुद पर ही हमले करवाते है केजरीवाल

538

बचपन में हमसब और कुछ करे या न करें लेकिन एक काम में बहुत एक्सपर्ट होते थे वो है अपनी गलतिया छुपाने , या फिर की हुई गलतियों पर सॉरी बोलने पर । नही समझे ? अरे कोई बात नही में समझा देती हूं । अगर कभी किसी बच्चे की लड़ाई हो गयी स्कूल में , उसने दूसरे को मार-पिट दिया , उसके बाद कल हो कर जा सॉरी बोल देता था, बोलता था भी सॉरी गलती से हो गया , जब टीचर पूछता था क्यो मार उसको तो बच्चे as usual जवाब पता नही ,गलती से हो गया ।

अब यहाँ जब मार, पीट , थप्पड़ की बात की तो, ये तो बलकुल बताने की जरूरत नही , बात यहाँ केजरीवाल जी के recent थप्पड़ कांड की हो रही । हर बार की तरह केजरीवाल जी को रोड शो के दौरान एक आदमी ने जोरदार थप्पड़ मार दिया । बाद में जब पुलिस ने पकड़ा , उस थप्पड़ मारने वाले इंसान को ,

एक min उस इंसान का नाम सुरेश है ये नोट कर लीजिए , क्योकि काफी वायरल चल रहे है ये भाई साहब , हां तो यह चर्चा हो रही सुरेश पर , तो जब सुरेश को पुलिस ने पकड़ लिया , जेल में डाल दिया , जेल से निकलते ही सुरेश बोलता है ,’मुझे सीएम केजरीवाल को थप्पड़ मारने का बहुत पछतावा है.’वो भी काफी हँसते हुए । इतना ही नही सुरेश ने काफी अच्छे अंदाज़ में बोला कि मुझे किसी पोलिटिकल पार्टी ने नही बोला ये करने को । तो चलिए बात हुई यही खत्म , लेकिन इतना आसान है क्या ऐसे कैसे बात खत्म हो गयी ?

Image result for kejriwal thappad

भाई आपलोग ना ध्यान से नही सुनते मेरी बातें , मैंने बोला सुरेश की बात यहां खत्म हुई , अब यहां से शुरुआत होती है बात आम आदमी पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं और दिल्ली के मंत्रियों की ,वो कैसे चलिए वो भी बता देते हैं , जब ये घटना घटी थी तब मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा था कि क्या मोदी और अमित शाह अब केजरीवाल की हत्या करवाना चाहते हैं? आप सांसद संजय सिंह ने ट्वीट कर लिखा, दिल्ली के मुख्यमंत्री की सुरक्षा मोदी सरकार के अधीन है लेकिन केजरीवाल का जीवन सबसे असुरक्षित है. संजय सिंह ने कहा था कि केजरीवाल पर हमला एक साजिश का हिस्सा है. अरे इसके बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी इस घटना पर पीसी कर केंद्र की मोदी सरकार पर हमले के लिए जिम्मेदार ठहराया था. इसके बाद दिल्ली पुलिस ने अरविंद केजरीवाल की सुरक्षा को और कड़ा कर दिया है.

चलो भइया सब ठीक है, लेकिन अब जब सुरेश ने साफ़ सुथरे शब्दों में बोल दिया है की किसी के बोलने पर ये काम नहीं किया तो अब क्या बोलेंगे ये नेतागन की ये भी ज़बरदस्ती बोलवाया गया है? वैसे थोड़ा फ़्लश बैक में चले तो ये फल दफ़ा नहीं इससे पहले भी कई बार ये सब चीज़ें हो चुकी हैं।

Image result for kejriwal thappad

1)2018 में सीएम अरविंद केजरीवाल पर अनिल शर्मा नाम के एक शख्स ने केजरीवाल पर मिर्च पाउडर फेंक दिया था. 20 नवंबर 2018 को दिल्ली सचिवालय में अनिल नाम का एक शख्स दोपहर करीब 2 बजकर 10 मिनट पर अरविंद केजरीवाल पर मिर्च फेंका था ।
2)9 अप्रैल 2016 को सीएम केजरीवाल पर एक शख्स ने जूता फेंका था. ये शख्स ऑड-ईवन स्कीम के दौरान सीएनजी स्टिकर की बिक्री में धांधली को लेकर नाराज था.
3)जनवरी 2016 में आम आदमी सेना की सदस्‍य भावना अरोड़ा ने केजरीवाल पर स्‍याही फेंकी थी.
4)2014 लोकसभा चुनावों के दौरान ही वारासणी में कुछ लोगों ने केजरीवाल और आप के अन्य नेताओं पर अंडे और स्याही फेंकी.
5)18 नवबंर 2013 को अरविंद केजरीवाल पर एक शख्‍स ने स्‍याही फेंककर हमला किया था. हमला करने वाले आरोपी ने खुद को अन्ना हजारे का समर्थक बताया था. 

Image result for kejriwal thappad

इनसब घटना के बाद कभी ऐसा नहीं हुआ, की जब किसी भी इंसान ने ख़ुद को किसी पार्टी का बताया हो, या तो वो इंसान एक आम इंसान rhta है जो दिल्ली सरकार से नाराज़ है या तो उनको ख़ुद aap पार्टी का समर्थक बताया है। तो इससे कम से कम अभी भी केजरीवाल सरकार को ख़ुद के अंडर झाँक कर देखना चाहिए कि ग़लती कहा की उन्होंने जिससे जनता इतनी नाराज़ है उनसे, ना की दूसरों पर ऊँगली उठाना चाहिए।