केजरीवाल ने इस शर्त के साथ जारी किया AAP का चुनावी घोषणा पत्र

305

दिल्ली में गठबंधन को लेकर कांग्रेस की ओर से मुंह की खाने के बाद अब केजरीवाल ‘अकेला चलो’ की नीती पर आगे चल पड़े हैं..लोकसभा चुनाव को लेकर आम आदमी पार्टी के सभी 7 उम्मीदवारों ने पहले ही नामांकन दाखिल कर लिया है, लेकिन अब आम आदमी पार्टी ने जनता से जीताने के बदले सारे वादे पूरे करने की कसम खा ली है..

आम आदमी पार्टी ने गुरुवार को दिल्ली के लिए अपना घोषणापत्र जारी किया. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने यहां प्रेस कॉन्फ्रेंस में भारतीय जनता पार्टी पर जमकर निशाना साधा, तो कई वादों को गिनाया. आप के घोषणा पत्र में वो सब वादे किए गए हैं। जो इन दिनों दिल्ली की सड़कों पर बैनर के जरिए हर कोई देख रहा है। सिर्फ इतना ही नहीं केजरीवाल सरकार ने उन वादों को दोबारा दोहराया है, जिसके सहारे वो दिल्ली की सत्ता में काबिज हुई थी। घोषणापत्र में ऐसे वादे भी हैं, जिनको पूरा कर पाना काफी मुश्किल है, या यूं कहें ना मुमकिन है। जिनमें पूर्ण राज्य और गेस्ट टीचरों को पक्का करने का वादा किया गया है..

1.आईए जानते है कि आम आदमी पार्टी के घोषणापत्र में बड़े वादे क्या-क्या हैं ?

पूर्ण राज्य बना तो दिल्ली के 85% बच्चों को कॉलेजों में एडमिशन देंगे
पुलिस को जनता के प्रति accountable बनाएंगे, जिससे महिलाएं सुरक्षित होंगी
राज्य के सभी कच्चे कर्मचारियों को एक हफ्ते में पक्का करेंगे
पूर्ण राज्य बना तो MCD सरकार के अंदर आएगी फिर दिल्ली और भी साफ बनेगी
एक हफ्ते में कच्चे कर्मचारी, गेस्ट टीचर पक्के होंगे
दिल्ली के हर मतदाता को सस्ती और आसान किस्त में घर मिलेगा
एंटी करप्शन ब्रांच दिल्ली सरकार के अंतर्गत आएगी, तो भ्रष्टाचार पर रोक लगा देंगे
पूर्ण राज्य बना तो जनलोकपाल बिल पास करेंगे

घोषणापत्र जारी करने के बाद केजरीवाल ने बीजेपी के प्रति आक्रमक रूप अख्तियार किया। सीएम अरविंद केजरीवाल ने यहां प्रेस कॉन्फ्रेंस में भारतीय जनता पार्टी पर जमकर निशाना साधा और कहा ये चुनाव संविधान को बचाने वाला है, हमारा लक्ष्य नरेंद्र मोदी को चुनाव हराना है. उन्होंने कहा कि बीजेपी को छोड़ जो भी सरकार बनाने की हालत में होगा, हम उसे समर्थन करेंगे..

केजरीवाल ने कहा कि जो भी सरकार दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देगी हम उसी को समर्थन करेंगे। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज बीजेपी अल्पसंख्यकों को घुसपैठिया मानती है, हमारा लक्ष्य हर किसी को सुरक्षित महसूस करवाना है। पूर्ण राज्य का दर्जा मिलते ही दिल्ली पुलिस में खाली पड़ी जगहों को भरेंगे।

आपको बता दें कि आम आदमी पार्टी और कांग्रेस को लेकर पिछले लंबे समय से गठबंधन को लेकर बात चल रही थी, जो सफल नहीं हो पाई थी। अब आम आदमी पार्टी और कांग्रेस अलग-अलग सातों सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं..और बीजेपी को चुनौती दे रहे है..लेकिन इनके इस चुनौती को जनता कैसे देखती है ये तो लोकसभा चुनाव के रिजल्ट ही तय करेंगे..