मोदी सरकार 2.0 ने सत्ता में आने के बाद से ही एक के बाद एक बड़े और ऐतिहासिक फ़ैसले लिए जिसके बारे में किसी ने सोचा भी नहीं होगा. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 जैसे अहम मुद्दे को खत्म करके सभी को चौंका दिया था. इतना ही नहीं जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को तीन अलग-अलग हिस्सों में बांटकर केंद्र शासित राज्य बना दिए.

जानकारी के लिए बता दें कश्मीरी पंडितों के एक प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की. अमित शाह ने उनसे मुलाकात करने के बाद बड़ा ऐलान कर दिया है. शाह ने उनसे वादा करते हुए कहा कि घाटी में जल्द ही कश्मीरी पंडितों के लिए ख़ास टाउनशिप बसायी जाएगी.

अमित शाह ने उनसे बातचीत करने के बाद ये भी ऐलान किया है कि घाटी में तबाह किये गये मंदिरों का भी जीर्णोद्वार भी किया जायेगा. कश्मीरी पंडितों के प्रतिनिधि मंडल ने अमित शाह से मुलाकात करके धारा 370 को हटाने के लिए धन्यवाद भी दिया.

गौरतलब है कि अमित शाह से जो प्रतिनिधि मंडल मिलने आया था उसमें कश्मीरी मूल के ख़ास लोग मौजूद जिनमें डॉक्टर सुरिंदर कौल, संजय गंजू, उत्पल कौल और कर्नल ताज टिक्कू मौजूद थे. मीडिया से बातचीत करने के बाद प्रतिनिधिमंडल ने कहा है कि अमित शाह ने उन्हें विश्वास दिलाया है कि जल्द ही कश्मीर घाटी के सभी 10 जिलों में कश्मीरी पंडितों के लिए टाउनशिप बसाकर उनका पुनर्वास किया जायेगा.