कश्मीरी पंडित की ह’त्या से भड़की कंगना रनौत, पीएम मोदी से की ये अपील

1155

कश्मीर से जब आर्टिकल 370 हटाया गाया था तो सबसे ज्यादा खुश कश्मीरी पंडित थे. उन्हें उम्मीद थी कि अब उनका अपने ही देश में शरणार्थी होने का कलंक मिट जाएगा और वो वापस अपनी वादियों में लौट पाएंगे. लेकिन सोमवार को घाटी में कश्मीरी पंडित सरपंच की ह’त्या के बाद उनकी उम्मीदें फिर से टूटने लगी है. इस घटना के बाद देशवासियों में भी गुस्से की लहर है. फिल्म अभिनेता अनुपम खेर, अभिनेत्री कंगना रनौत और क्रिकेटर सुरेश रैना ने भी इस घटना पर रोष जताया.

हर मुद्दे पर बेबाक राय रखने वाली और राष्ट्रवादी विचारधारा वाली अभिनेत्री कंगना रनौत ने ने घटना पर गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि कश्मीर में फिर से हिंदुत्व की स्थापना ही इसका एकमात्र इलाज है. उन्होंने एक वीडियो जारी कर पीएम मोदी से अपील की है कि घाटी में कश्मीरी पंडितों को फिर से बसाया जाए और उन्हें वहां जमने दी जाए. कश्मीर में फिर से हिंदुत्व की स्थापना करनी पड़ेगी. उन्होंने कहा कि कश्मीरी पंडितों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाना चाहिए.

1989 में इस्लामिक आ’तंकि’यों द्वारा लगातार निशाना बनाए जाने के बाद कश्मीर से कश्मीरी पंडितों का पलायन हो गया था. उसके बाद से ही वो जम्मू और देश के अन्य भागों में शरणार्थी जैसा जीवन जी रहे हैं. कश्मीर घाटी में अब केवल 800 के आसपास पंडित परिवार बचे हैं. तीन दशक बीत जाने के बाद भी केंद्र और राज्य सरकारें कश्मीरी हिन्दुओं की घर वापसी सुनिश्चित नहीं कर पाई. कश्मीरी पंडितों की पुनर्वासी को लेकर लगातार देश में आवाज उठती रही. भाजपा का तो ये मुख्य मुद्दा रहा कि कश्मीरी पंडितों को कश्मीर में वापस बसाया जाए. कश्मीरी पंडित अपने ही देश मी शरणार्थी होने का दंश अब तक झेल रहे हैं. ऐसा लगता है कि उनका इंतज़ार अब और लम्बा होने वाला है.