कंगना रनौत ने खटखटाया सुप्रीमकोर्ट का दरवाजा, कहा महाराष्ट्र में मुझे जान का खतरा है.

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत और उनकी बहन रंगोली चंदेल ने मुंबई में उन पर चल रहे तीन आपराधिक मामलों को महाराष्ट्र से हिमाचल प्रदेश ट्रांसफर कराने के लिए सुप्रीम कोर्ट में ट्रांसफर पिटिशन दायर की है. इस याचिका में उन्होंने तीनों मामलों को महाराष्ट्र, मुंबई से बाहर हिमाचल प्रदेश स्थानांतरित करने की मांग की है.कंगना और रंगोली पर सोशल मीडिया में कठोर और आपत्तिजनक टिप्पणियां करने के खिलाफ मुंबई में तीन मामले चल रहे हैं.अभिनेत्री और उनकी बहन ने आरोप लगाया कि उन्हें आशंका है कि यदि इन मामलों की सुनवाई मुंबई में की जाती है तो उनके जीवन और सम्पत्ति को खतरा होगा, क्योंकि शिवसेना नीत महाराष्ट्र सरकार उन्हें ‘परेशान’ कर रही है.

याचिका में उनके खिलाफ दर्ज शिकायतों एवं प्राथमिकियों संबंधी सुनवाई मुंबई से हिमाचल प्रेदेश के शिमला की एक सक्षम अदालत में स्थानांतरित किए जाने का अनुरोध किया गया है. इनमें गीतकार जावेद अख्तर द्वारा कंगना रनौत के खिलाफ दर्ज कराई गई मानहानि की शिकायत भी शामिल है. इसमें कहा गया है कि अभिनेत्री ने पिछले साल एक समाचार चैनल को इंटरव्यू दिया था, जिसमें उन्होंने 2016 में अख्तर से मुलाकात के बारे में बात की थी, जिसके बाद गीतकार ने रनौत के खिलाफ आपराधिक मानहानि की शिकायत दर्ज कराई.

याचिका में कंगना रनौत और रंगोली चंदेल ने आरोप लगाए हैं कि महाराष्ट्र सरकार जान-बूझकर उनका शोषण कर रही है. दोनों ने यह भी दावा किया है कि ये सभी केस उनकी छवि को खराब करने की नीयत के साथ किए गए हैं. बता दें कि सोशल मीडिया पर टिप्‍पणी मामले में तीन और जावेद अख्‍तर की मानहानि मामले में एक, इस तरह कुल 4 केस कंगना और रंगोली के ख‍िलाफ मुंबई में दर्ज हैं.

Related Articles