लखनऊ में दिनदहाड़े कमलेश तिवारी की हत्या, पैगम्बर मोहम्मद पर की थी आपत्तिजनक टिप्पणी

9348

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भारत समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की गला रेत कर हत्या कर दी गई. हमलावरों ने दिन दहाड़े उनके दफ्तर में घुस कर उनका गला रेत दिया और फरार हो गए. कमलेश तिवारी को इलाज के लिए ट्रामा सेंटर ले जाया गया लेकिन इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. हमलावर मिठाई के डब्बे में कट्टा और चाकू ले कर आये थे. हत्या करने से पहले उन्होंने दफ्तर में ही बैठ कर कमलेश तिवारी के साथ चाय पी, बातें की और निकलते समय पहले गला रेता और फिर गोली मार दी.

अगर आपको याद न हो तो बता दें कि कमलेश तिवारी वही नेता थे जिन्होंने दिसंबर, 2015 में पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ विवादित बयान दिया था जिसके बाद उनको गिरफ्तार भी किया गया था. उस वक़्त बिजनौर के इमाम ने पैगम्बर मोहम्मद पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के लिए कमलेश का सिर कलम करने पर 51 लाख का इनाम रखा था . कमलेश तिवारी के आपत्तिजनक बयान की वजह से पश्चिम बंगाल के मालदा में लाखों मुस्लिम हिंसा पर उतर आए थे और थानों और बसों को आग के हवाले कर दिया था. इसके बाद बिहार के पूर्णिया में भी बवाल हुआ था. इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने अभी हाल ही में कमलेश तिवारी पर लगी राष्ट्रीय सुरक्षा कानून(रासुका) हटा दिया था. वो फिलहाल जमानत पर रिहा चल रहे थे.

इस घटना ने एक बार फिर उत्तर प्रदेश की क़ानून व्यवस्था पर सवाल उठा दिया है. इस हत्या के बाद शहर में सनसनी मच गई. समर्थक हत्यारों को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं. दुकानों को बंद कराया जा रहा है. पुलिस मामले की तहकीकात कर रही है और भरोसा दिलाया है कि जल्द ही हत्यारों को पकड़ लिया जाएगा.