कमलनाथ के मंत्री के पैर पर गिरा फरियादी! वायरल हुआ वीडियो

253

जो नेता आपके सामने कभी हाथ जोड़कर वोट मांगते नजर आते हैं उन्होंने नेताओं के पैरों में आपको जाकर तब पड़ना पड़ता है जब वो जीत जाते हैं. जी हाँ ये कोई एक नेता, एक विधायक और एक मंत्री की कहानी है नही है बल्कि इस तरह के कई वीडियो और फोटो देख चुके होंगे!
यही नेता होते हैं जो आपको चुनाव से पहले आपके सारे कष्ट झेल लेने की बात करते हैं, आपकी समस्याओं का समाधान, आपके खाने पीने से लेकर उसके बाद तक तक की व्यस्व्था करवा देने की बात करते है. वोट पाने के लिए आपके जूठे गिलास में पानी में पीने को तैयार रहते हैं.. लेकिन एक बार जीत जाने के बाद मतलब विधायक सांसद मंत्री बना जाता है तब आपके साथ कैसा बर्ताव होता है…उस नेता का बर्ताव आपके साथ कैसा रहता है…. इसका ताजा नमूना हम आपको दिखाने जा रहा हैं…जिसे देखने के बाद शायद आपको भी ऐसे नेताओं को दिए वोट पर पछतावा जरुर होगा….
दरअसल मामला मध्य प्रदेश का हैं जहां की कमलनाथ सरकार के मंत्रियों और नेताओं के सिर पर सत्ता सर चढ़कर बोल रहा है. सोशल मीडिया के जरिये एक वीडियो सामने आया है जिसमें मंत्री महोदय के पैर पर एक फरियादी पड़ता दिखाई दे रहा है. हैरान कर देने वाली बात तो यह है कि फ़रियाद करने वाला व्यक्ति जब माननीय मंत्री के पैर पकड़ता है तो वहां से मंत्री साहब बिना कुछ बोले वहां से निकल जाते हैं जैसे वो दिखाना चाह रहे हो कि पैर पड़ने वाले बहुत हैं. मेरे पास इतना टाइम नही है.
मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार में सहकारिता मंत्री गोविन्द सिंह जो वरिष्ठ मंत्री हैं… वरिस्थ मंत्री और वरिष्ठ नेता अगर इस तरह लोगों का अपमान करेगे तो इस तरह के नेताओं की मानशिकता पर सवाल खड़ा होता है. क्या ये नेता वाकई आपकी सेवा करने के लिए चुने गये हैं? क्या इन जैसे नेताओं को वोट देना ठीक है? सत्ता में आने के बाद से ही कमलनाथ सरकार लगातार सत्ता में बनी हुई हैं.

राजनीति में अक्सर नेता, मंत्री चौपाल लगते हैं लोगों की समस्याएं सुनते हैं उनके समाधान की बात करते हैं लेकिन जब किसी पार्टी का नेता, मंत्री बनने के बाद आम जनता से इस तरह सलूक करे जैसे कि वो इंसान हैं ही नही, और मंत्री खुद को भगवान समझने लगते हैं तो यह बात उन्हें समझ लेना चाहिए कि सत्ता सिर्फ पांच साल के लिए आती हैं.जनता फिर जवाब देंगी लेकिन यहाँ सवाल हैं कि कौन सी जनता? जो शायद अगले चुनाव तक इसे भुला दे!

हमारा भारत देश के लोग बहुत दयालु हैं. ये लोग नेताओं द्वारा किये गये इन व्यवहारों को बहुत जल्द भूल जाते हैं. अगले चुनाव में जैसे ये नेता आपके सामने पहुँच कर हाथ जोड़कर वोट मांगे और आपके कुछ लुभावने वादे किये तो आप सब भूलकर आप उन्हें वोट देने के तैयार हो जायेंगे! लेकिन हमें चाहिए कि हम ऐसे नेताओं के लिए सबक बने.