पश्चिम बंगाल भाजपा पर्यवेक्षक कैलाश विजयवर्गीय के काफिले पर हमला

1119

भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता और पश्चिम बंगाल में पार्टी के केंद्रीय पर्यवेक्षक कैलाश विजयवर्गीय  के काफिले को नवग्राम इलाके में भीड़ ने घेर लिया था, जिससे नाराज कैलाश का कहना है की प्रशासन भी कोई सुनवाई नही कर रहा है.कैलाश विजयवर्गीय का कहना है की शासन और प्रशासन भी उन लोगो के साथ खड़ा है जो लोग हिंसा कर रहे हैं. इसके आलावा कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट कर के कहा है कि मुर्शिदाबाद जाते वक़्त मुझे नवग्राम में भीड़ ने चारों तरफ से घेर लिया है,अपने बचाव के लिए मैंने SP और DG को फ़ोन किया लेकिन वो लोग भी फ़ोन नही उठा रहे हैं. पश्चिम बंगाल में सरकार  भी उन लोगो का साथ दे रही है जो दंगा भड़काने का काम कर रहे हैं, क्या आज इस हालात को देखते हुए अब भारत के संविधान पर कोई खतरा नही मंडरा रहा है.

अपने दूसरे ट्वीट में कैलाश विजयवर्गीय ने ममता सरकार पर आरोप लगाते हुए ये कहा कि मुर्शिदाबाद के ज्यादातर रास्ते ट्रकों के कारण बंद करवा दिये गए है.ये स्वाभाविक जाम नही है ये सरकार और प्रशासन द्वारा हमारे रास्ते को रोकने का प्रयास किया गया है.

कैलाश विजयवर्गीय ने एक के बाद एक ट्वीट की झड़ी लगा दी और इसी सिलसिले में एक और ट्वीट कर के ममता सरकार को घेरने की पूरी कोशिश की है,उन्होंने अपने तीसरे ट्वीट में ये कहा है कि हम जिस भी रास्ते से गुज़र रहें हैं, वहां पर ममता दीदी के कहने पर ट्रकों द्वारा जाम लगवा दिया है, बिना किसी कारण के रोड पर ट्रकों का जाम लगा हुआ है और इसको देखते हुए ये लगता है कि इसमें सरकार की पूरी साजिश है.

कैलाश विजयवर्गीय को मुर्शिदाबाद न जाने देने पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी ममता सरकार पर निशाना साधा और कहा कि बंगाल की सरकार पूरी तरह गुंडों और बदमाशों को पूरा संरक्षण दे रही है. इससे यही नजर आता है कि आम जनता की रखवाली भगवान भरोसे है. ऐसे जंगलराज को खत्म करने का समय आ गया है.