कागज़ नहीं दिखाएँगे कहने वाले CAA विरोधियों ने पुलिस वाले से मांगी उनकी आईडी और कागज़

1314

जब से CAA लागू हुआ है तब से वामपंथियों का गिरोह कागज़ नहीं दिखाएँगे, कागज़ नहीं दिखाएँगे का मन्त्र जप रहा है. जबकि ये साफ़ है कि CAA नागरिकता देने के लिए है इसमें देश के नागरिकों को कागज़ नहीं दिखाना है. लेकिन इसके बावजूद ये वामपंथी कागज़ नहीं दिखायेंगे, कागज़ नहीं दिखाएँगे की रट लगा कर मुसलमानों को भड़काने में लगे हैं. इन वामपंथियों को अपना कागज़, अपनी आईडी नहीं दिखाने लेकिन दूसरों का कागज़ और दूसरों की आईडी देखनी है.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है. इस वीडियो में सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशांत भूषण और स्वराज पार्टी के नेता योगेन्द्र यादव एक पुलिस वाले से उसकी आईडी दिखाने की मांग कर रहे हैं. आपको बता दें कि प्रशांत भूषण और योगेन्द्र यादव दोनों पहले आम आदमी पार्टी के नेता थे.

वायरल वीडियो में प्रशांत भूषण और योगेन्द्र यादव प्रदर्शन करने जा रहे हैं लेकिन पुलिस उन्हें रोक कर कहती है कि “यहाँ भीड़ इकठ्ठा करना मना है. आप आगे नहीं जा सकते.”  इस पर योगेन्द्र यादव कहते हैं कि “आप कौन है? अपना नाम दिखाइये, अपना बैच और आईडी कार्ड दिखाइये. हम कैसे पहचानेंगे कि आप किस फ़ोर्स से हैं.? आजकल तो ऐसे कपडे पहन कर बहुत लोग घूमते हैं. बताइए आप अपना बैच?

हिप्पोक्रेसी की इन्तेहाँ देखिये. इन्हें अपना कागज़ नहीं दिखाना लेकिन दूसरों का कागज़ देखना है. लेकिन अगर उस पुलिस वाले ने इन्हें कागज़ मांग लिया होता तो ये पूरा देश सर पर उठा लेते और लोकतंत्र खतरे में आ जाता.