ABVP ने बताया, JNU में वामपंथी नाम ले कर ढूंढ रहे थे, लड़कियों को ऐसी ऐसी जगह मा’रा…

2006

JNU में हिं’सा के बाद आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी है. अभी तक लेफ्ट छात्र संगठन भाजपा समर्थित ABVP पर आरोप लगा रहे थे. लेकिन अब ABVP ने लेफ्ट संगठनों पर आरोप लगाया है. रविवार की हिं’सा के बाद सोमवार को ABVP से जुड़े जेएनयू के छात्र मीडिया के सामने आये और उन्होंने वामपंथी संगठनों पर मा’रपी’ट के आरोप लगाए.

एक छात्र ने कहा कि लड़ाई विंटर सेशन के लिए रजिस्ट्रेशन को लेकर थी। वामपंथी छात्र चाहते थे कि रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया रुक जाए और इसके लिए उन्होंने सर्वर रूम को नुकसान पहुँचाया. छात्र के बताया कि पीस मार्च के बहाने करीब 650 से 700 छात्र इकट्ठे हो गए और उन्होंने सर्वर रूम को नुकसान पहुंचना शुरू कर दिया ताकि रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया ना हो पाए. रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया की आखिरी डेट 5 जनवरी को ही थी. और उसी दिन सारा हंगामा हुआ.

छात्र ने आगे बताया कि “बाद में करीब 700 छात्रों ने चेहरे पर नकाब पहने ह’मला कर दिया. बचने के लिए वे पेरियार हॉस्टल में छुप गए लेकिन वहां उनपर प’त्थ’र फेंके गए. ह’मला’वर नाम ले ले कर छात्रों को मा’रने के लिए ढूंढ रहे थे. लड़कियों को भी नहीं छोड़ा गया. लड़कियों को ऐसी ऐसी जगह मा’रा गया जहाँ बताया भी नहीं जा सकता.

5 जनवरी की शाम इस सारे हं’गामे के बाद राजनीति शुरू हो गई. इसी बीच सोशल मीडिया पर तरह तरह के विडियो फुटेज और तस्वीरें वायरल होने लगी, जिसकी सत्यता की पुष्टि हम नहीं कर रहे हैं. पुलिस ने FIR दर्ज कर ली है और CCTV फुटेज देख कर आरोपियों की पहचान की जा रही है. सभी घा’यल छात्रों को हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कर दिया गया है.