दिल्ली पुलिस ने जारी की JNU हिं’सा के संदिग्धों की तस्वीर, वामपंथी गुटों ने शुरू की थी हिं’सा

1144

5 जनवरी को JNU में हुए ब’वाल के बाद आज दिल्ली पुलिस ने हिं’सा करने वाले सं’दि’ग्धों की तस्वीरें जारी कर दी है. पुलिस ने कुल 9 आरो’पियों की तस्वीरें जारी की है. ये लोग प’त्थर’बाजी करते और हिं’सा फैलाते हुए देखे गए थे. इन 9 लोगों में से एक एक नाम JNU छात्रसंघ अध्यक्ष आइशी घोष का भी नाम है. गौरतलब है कि इस हिं’सा में सबसे ज्यादा चो’टें भी आइशी को ही आई थी.

दिल्ली पुलिस ने एक प्रेस कांफ्रेंस कर हिं’सा करने वालों की तस्वीरें जारी की. पुलिस ने जिन लोगों की तस्वीरें जारी की है उनके नाम है, नचुन कुमार (पूर्व छात्र), पंकज मिश्रा (माही मांडवी हॉस्टल), आइशी घोष (जेएनयूएसयू अध्यक्ष), पंकज कुमार, भास्कर विजय, सुजेता तालुकदार, प्रिय रंजन, योगेंद्र भारद्वाज (पीएचडी-संस्कृत) विकास पटेल (पीले शर्ट में एमए कोरियन) और सोनल सामंता.

पुलिस ने बताया कि तीन जनवरी को स्टूडेंट फ्रंट ऑफ इंडिया, ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन, ऑल इंडिया स्टूडेंट्स असोसिएशन और डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स फेडरेशन के मेंबर्स ने सेंट्रलाइज रजिस्ट्रेशन सिस्टम को रोकने के लिए जबर्दस्ती सर्वर रूम में घुसे और कर्मचारियों को बाहर निकाल दिया. इसके बाद सर्वर को बंद कर दिया. इसके बाद सर्वर को किसी तरह ठीक किया. 4 जनवरी को फिर उन्होंने सर्वर ठप करने की कोशिश की. दोपहर में पीछे शीशे के दरवाजे से कुछ अंदर घुसे और उन्होंने सर्वर को पूरी तरह से बर्बाद कर दिया. इससे पूरा रजिस्ट्रेशन का प्रोसेस रुक गया. इन दोनों मामले में एफआईआर दर्ज की गई है.

पुलिस ने बताया कि 5 जनवरी सुबह 11 बजे कुछ बच्चे स्कूल ऑफ सोशल साइंस के बाहर कुछ बच्चे रजिस्ट्रेशन के लिए बाहर बैठे थे. उन बच्चों को पी’टा गया और बीचबचाव करने वाले सुरक्षा स्टाफ से भी धक्कामुक्की की जाती है. AISF, AISA, SFI और DSF के लोगों ने 5 जनवरी को पेरियार हॉस्टल में जाकर हम’ला किया. यूनिटी अगेन्स्ट लेफ्ट नाम के वॉट्सऐप ग्रुप से दिल्ली पुलिस को काफी जानकारी मिली.