डीएसपी से पूछताछ में चौकाने वाले खुलासे, अपने घर में देता था आ’तंकि’यों को पनाह

1960

आ’तंकि’यों को अपने कार में छुपा कर ले जाते गिरफ्तार हुए जम्मू कश्मीर के डीएसपी देवेंदर सिंह से पूछताछ में बड़ा खुलासा हुआ है. पुलिस पूछताछ में उन्होंने बताया कि वो लम्बे समय से आ’तंकि’यों के संपर्क में थे और कई बार उन्होंने आ’तंकि’यों को अपनी कार से सुरक्षित एक जगह से दुसरे जगह तक पहुँचाया है, क्योंकि उनकी कार को कोई रोकता नहीं था. साल 2018 में भी वो आ’तंकि’यों को अपनी कार से जम्मू ले कर गए थे. यही नहीं, उन्होंने ये भी बताया अपने घर में आ’तंकि’यों को पनाह भी देता था.

पुलिस पूछताछ में ये भी खुलासा हुआ कि आ’तं’की दिल्ली, चंडीगढ़ और पंजाब में हमले की योजना बना रहे थे और डीएसपी देवेंदर सिंह उनकी मदद कर रहे थे. इसके अलावा कश्मीर में देवेन्द्र सिंह जिस जगह पर अपने घर का निर्माण कर रहे थे वो आर्मी कैम्प के बहुत नजदीक है. ऐसे में ये भी पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि क्या आर्मी कैम्प को भी निशाना बनाने की योजना थी? कश्मीर के आईजी ने कहा है कि डीएसपी पाकिस्तानी एजेंट है और आ’तंकि’यों को बचाने के एवज में उसे पैसे मिलते थे.

सांकेतिक तस्वीर

पुलिस पूछताछ के बाद आईबी और रॉ के अधिकारी भी डीएसपी देविंदर से पूछताछ की तैयारी में हैं. NIA भी देविंदर से पूछताछ कर सकती है. देवेन्द्र सिंह के साथ गिरफ्तार आ’तं’की नवेद के साथ भी पूछताछ भी की जा रही है ताकि उससे और डिटेल और ह’म’ले की योजनाओं के बारे में जानकारी निकाली जा सके. देवेन्द्र सिंह राष्ट्रपति पदक से सम्मानित है. अब उससे ये पदक छीने जा सकते हैं.