उपेन्द्र कुशवाह के महा’गठ’बं’धन छो’ड़ NDA में शा’मिल होने की बात को कैसे पचाएगी RJD?

बिहार में विधानसभा चु’नावो को लेकर तैयारी शुरू हो गयी है. हालाँकि अभी तक मत’दान की ता’रीख तय नहीं हुई है. लेकिन सभी पार्टियां मैदान में उ’तर आई है. वही RJD ने भी बिहार के लोगो को लु’भाने के लिए कई तरीके निकाले हुए है. वही दूसरी तरफ पीएम मोदी भी बिहारवा’सियों को लगातार कई सौ’गाते देते हुए आ रहे है और ये सिल’सिला आगे भी चलने वाला है.

वही दूसरी तरफ महा’गठबंधन में सीटों के बंट’वारे में हो रही देरी से परे’शान आरएलएसपी उपेंद्र कुश’वाहा ने महा’गठ’बंधन को अ’ल्टीमे’टम दे दिया था. जिसके बाद आज उपेन्द्र कुशवाहा ने पार्टी की कार्य’कारणी की बैठक बुलाई है. जिसमें अनु’मान लगाया जा रहा है कि वो जल्द ही गठबं’धन को अल’विदा कह सकते हैं और NDA में शामिल हो सकते है. लेकिन इसकी अभी तक औपचा’रिक घो’षणा नहीं हुई है. वही सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक दोनों तरफ से बात त’य हो चुकी है. बस कुछ दिनों में ही इसकी घोष’णा हो जाएगी.

जिसके बाद सवाल उए उठता है कि आखिर क्यों जीतन राम मांझी के बाद उपेंद्र कुशवाहा म’हागठ’बंधन छोड़’ने की तैयारी में हैं और क्या कुशवाहा की वापसी एनडीए में इतनी आसान है. क्यूंकि बीते कुछ दिनों पहले RLSP की तरफ से ब’यान आया था कि एनडीए को हरा’ने के लिए वह किसी भी प्रकार की कुर्बा’नी करने के लिए तै’यार है. इसके बावजूद अब कुशवाहा एनडीए में शामि’ल होना चाह रहे हैं. इतना ही नहीं लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान एनडीए छो’ड़ते व’क्त भी कुशवाहा ने बिहार सरकार पर कई आ’रोप लगाए थे. साथ ही मंत्री रहते हुए एक इंटर’व्यू में उपेंद्र कुशवाहा ने कहा था कि ‘नीतीश कुमार को अब मुख्यमंत्री का प’द छो’ड़ देना चाहिए और अन्य लोगों को मौ’का देना चाहिए.’

जाहिर है बिहार चुनाव से पहले ही राजनी’ति गर’मा चुकी है. जिसके बाद ये देखने ला’यक होगा कि NDA में उपेन्द्र कुशवाह की वाप’सी कितनी आ’सान होती है. साथ ही NDA में कुश’वाह के शामिल होने की बात RJD कैसे ह’जम कर पाती है. क्यूंकि महागठबंधन में सीट शेय’रिंग को लेकर वि’वाद अब अलग रूप ले चुका है.

Related Articles