मुकेश सहनी के महागठबंधन छोड़ने के बाद जेडीयू के प्रवक्ता डॉ अजय आलोक ने अपने बयान में कहा कि मुकेश साहनी को पता लगा गया कि जन्नत की हकीकत क्या है?

बिहार में विधानसभा चुनावो का बिगुल बज चूका हुआ हैं. जिसके साथ ही आ’रोप प्रत्या’रोप का सिलसिला भी जारी है. वहीँ नेताओं का दल बदलना भी जारी हैं. बिहार विधानसभा चुनावो को देखत हुए महागठबंधन में सीट शेयरिंग को लेकर बहुत दिनों से घ’मा’सा’न जारी था. लेकिन कल सीट शेयरिंग को लेकर बात बन गई थी. फिर अचानक से ही प्रेस कांफ्रेंस में पूरा माहौल ही बदल गया है.

महागठबंधन में सीट को लेकर पेंच फंसता ही जा रहा है. एनडीए जहां अभी तक अपने सीटों का ऐलान नहीं कर पाई है, तो वहीं महागठबंधन में ‘ऑल इज वेल’ नहीं है. शनिवार को महागठबंधन द्वारा सीटों का ऐलान पटना में किया गया. लेकिन इस दौरान वीआईपी पार्टी ने बीच प्रेस कॉन्फ्रेंस में महागठबंधन  छोड़ने का ऐलान कर दिया और तेजस्वी यादव पर आ’रो’प भी लगाया और उनके खि’ला’फ मु’र्दा’बा’द के नारे भी लगाये गए.

कल जो भी महागठबंधन में हुआ अब इसको लेकर बिहार में हं’गा’मा मचा हुआ है. वहीँ दूसरी तरफ JDU के प्रवक्ता डॉ. अजय आलोक ने कहा है कि ‘यह अति पिछड़ा वि’रो’धी सम्मलेन था और लोगों की आंखें खुल गई है. ये सिर्फ धोखा देना जानते हैं. ये मुकेश को पता लगा गया कि जन्नत की हकीकत क्या है.’दरअसल मुकेश सहनी ने 25 सीट और डिप्टी सीएम का पद मांगा था. लेकिन मुकेश सहनी और उनकी पार्टी को आरजेडी ने ये सब नही दिया. इसके साथ ही मुकेश सहनी ने महागठबंधन से अलग होने का फैसला ले लिया है.

Related Articles