आर्टिकल 370 हटने के बाद जम्मू में एक चौक का नाम ‘भारत माता चौक’ रखने पर ‘द वायर’ का हो गया शॉर्ट सर्किट

319

जम्मू और कश्मीर से आर्टिकल 370 हटे 7 महीने हो चुके हैं. वहां शांति छाई हुई है. आर्टिकल 370 हटने के बाद राज्य में अहम बदलाव शुरू हो गए हैं. राज्य में कई नए क़ानून लागू किये गए. साथ ही जम्मू में दो चौक के नाम बदले गए. लेकिन चौक का नाम बदलना प्रोपगैंडा पोर्टल द वायर को पसंद नहीं आया और वो भड़क गया. द वायर के भड़कने का कारण है चौक का नाम बदल कर ‘भारत माता चौक’ और अटल जी चौक रखा गया है.

जम्मू नगर निगम (जेएमसी) ने सिटी चौक का नाम बदलकर भारत माता चौक और सर्कुलर रोड चौक का नाम बदलकर अटल जी चौक कर दिया है. जम्मू के सिटी चौक पर हर साल गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस के मौके पर तिरंगा फहराया जाता है. इसलिए लम्बे समय से इस चौक का नाम भारत माता चौक करने की मांग हो रही थी. जेएमसी के इस कदम का कई लोगों ने स्वागत किया लेकिन द वायर को मिर्ची लग गई. नाराज वायर ने इस पर एक लम्बा सा आर्टिकल लिखा और उसका हैडिंग दिया ‘In the absence of an elected government in Jammu and Kashmir, the renaming of historic chowks and institutions in Jammu has begun’ यानी कि निर्वाचित सरकार की गैर मौजूदगी में जम्मू और कश्मीर में ऐतिहासिक चौक और संस्थानों का नाम बदलना शुरू हो गया है.

द वायर को मिर्ची लगना स्वाभाविक भी है. उसे तो तब से मिर्ची लगी हुई है जब से आर्टिकल 370 को हटाया गया है. द वायर जैसे वामपंथी पोर्टल्स को तो भारत माता और वन्दे मातरम जैसे संबोधनों से भी आपत्ति होती है. फिर वो इतनी आसानी से कैसे स्वीकार कर ले. जम्मू म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन के इस कदम से भड़कने के चक्कर में द वायर तो ये भी भूल गया कि जम्मू कश्मीर अब केंद्र शासित प्रदेश है और केंद्र ही वहां का प्रशासक है.

द वायर के इस नाराजगी भरे आर्टिकल का श्रीनगर के मेयर जुनैद आजिम मट्टू ने करारा जवाब दिया. उन्होंने कहा कि मानों या न मानो लेकिन इसका फैसला जम्मू म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन ने लिया है और वो एक निर्वाचित संस्था है.